दिल की धड़कन।

Kmsraj51 की कलम से…..

CYMT-KMSRAJ51-4

ϒ दिल की धड़कन। ϒ

धड़कन प्रायः दूसरों को सुनाते।
मै तो खुद ही सुनता हूँ।
वाद-विवाद का जगह नहीं।
खुद ही ताने बुनता हूँ॥

मंजिल मेरी राह बदल दी।
राहों के पीछे दौड़ता हूँ।
धड़कन प्रायः दूसरों को सुनाते।
मै तो खुद ही सुनता हूँ॥

वफ़ा बन न जाए बेवफ़ाई।
उधेड़-बुन में रहता हूँ।
धड़कन प्रायः दूसरों को सुनाते।
मै तो खुद ही सुनता हूँ॥

कोयल डाली-डाली बोले।
कौओं की तान मै सुनता हूँ।
धड़कन प्रायः दूसरों को सुनाते।
मै तो खुद ही सुनता हूँ॥

राम कथा और रहीम की वाणी।
फर्क कोई नहीं करता हूँ।
धड़कन प्रायः दूसरों को सुनाते।
मै तो खुद ही सुनता हूँ॥

भुत – भविष्य की बातों को…
भूल सुधार मै करता हूँ।
धड़कन प्रायः दूसरों को सुनाते।
मै तो खुद ही सुनता हूँ॥

©- रवि रंजन पाण्डेय। ¤ औरंगाबाद (बिहार) 

kmsraj51-rrp2016

हम दिल से आभारी हैं “रवि रंजन पाण्डेय जी” के प्रेरणादायक हिन्दी कविता साझा करने के लिए।

About – Ravi Ranjan Pandey(जर्नलिस्ट एवम् शोधार्थी।) : 

“रवि रंजन पाण्डेय जी” फ़िलहाल भूगोल विषय में यू.जी.सी., जे.आर.एफ के तहत पटना विश्वविद्यालय में शोध कार्य कर रहे है। इन्हे लेखन का शाैक भी है। इनके लेखन में कविता, कहानी व उपन्यास सम्मिलित हैं। रवि रंजन पाण्डेय जी के लेखन समय-समय पर अनेक पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हाेते रहते है। इनकी कविताएं सरल शब्दाे में हाेते हुँये भी हृदयसात करने योग्य है। जाे भी इंसान इन कविताओं काे गहराई(हर शब्दाे का सार) से समझकर आत्मसात करें, उसका जीवन धन्य हाे जायें।

Please Share your comment`s.

© आप सभी का प्रिय दोस्त ®

Krishna Mohan Singh(KMS)
Editor in Chief, Founder & CEO
of,,  https://kmsraj51.com/

जैसे शरीर के लिए भोजन जरूरी है वैसे ही मस्तिष्क के लिए भी सकारात्मक ज्ञान और ध्यान रुपी भोजन जरूरी हैं। ~ कृष्ण मोहन सिंह(KMS)

 ~Kmsraj51

———– © Best of Luck ® ———–

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

cymt-kmsraj51

– कुछ उपयोगी पोस्ट सफल जीवन से संबंधित –

* विचारों की शक्ति-(The Power of Thoughts)

* अपनी आदतों को कैसे बदलें।

निश्चित सफलता के २१ सूत्र।

क्या करें – क्या ना करें।

∗ जीवन परिवर्तक 51 सकारात्मक Quotes of KMSRAJ51

* विचारों का स्तर श्रेष्ठ व पवित्र हो।

* अच्छी आदतें कैसे डालें।

KMSRAJ51 के महान विचार हिंदी में।

* खुश रहने के तरीके हिन्दी में।

* अपनी खुद की किस्मत बनाओ।

* सकारात्‍मक सोच है जीवन का सक्‍सेस मंत्र 

* चांदी की छड़ी।

kmsraj51- C Y M T

“सफलता का सबसे बड़ा सूत्र”(KMSRAJ51)

“स्वयं से वार्तालाप(बातचीत) करके जीवन में आश्चर्यजनक परिवर्तन लाया जा सकता है। ऐसा करके आप अपने भीतर छिपी बुराईयाें(Weakness) काे पहचानते है, और स्वयं काे अच्छा बनने के लिए प्रोत्सािहत करते हैं।”

In English

Amazing changes the conversation yourself can be brought tolife by. By doing this you Recognize hidden within the buraiyaensolar radiation, and encourage good solar radiation to becomethemselves.

 ~KMSRAJ51 (“तू ना हो निराश कभी मन से” किताब से)

“अगर अपने कार्य से आप स्वयं संतुष्ट हैं, ताे फिर अन्य लोग क्या कहते हैं उसकी परवाह ना करें।”

~KMSRAJ51

 

 

 

Advertisements

याद किसे करें, किसके लिए रोए।

Kmsraj51 की कलम से…..

CYMT-KMSRAJ51-4

ϒ याद किसे करें, किसके लिए रोए। ϒ

याद किसे करें, किसके लिए रोए।
अपना किसे माने, पराया किसे जाने।

कल के अतीत को।
या आज के वर्तमान को।

या आनेवाला भविष्य को।
जिसे लेकर सब चिंतित हैं।

जब भूत – वर्तमान – भविष्य एक नहीं हो सकता।
फिर तो मुझे तीनों से उम्मीद कैसी ?

क्या कल मुझे नहीं पुकारेगा।
क्या आज मुझे नहीं धिकारेगा।

क्या भविष्य की आशाए धूमिल नहीं हो जाएगी।
कौन मुझे चाहता है ?

भूत छोड़ कर चला गया लेकिन यादे पास हैं।
वर्तमान साथ तो है पर बिछड़ने का डर है।

भविष्य तो कोरी कल्पना है जिससे दिल को एक आश है।
आखिर मै जाऊ कहाँ ?

अपनाऊ किसे ?
सब अपने है या फिर सब पराये।

किसको रूठाऊ या मनाऊ किसे।
कहने को आजाद हूँ।

गुलाम हूँ अपने मन का।
शरीर की अपनी भूख है।

शांति है चेतन का।
बांध रखा हूँ अपनी मुठ्ठी।

या पसार रखा हूँ अपना हाथ।
समझ नहीं आता।

जाऊ मै किसके साथ ?

©- रवि रंजन पाण्डेय। ¤ औरंगाबाद (बिहार) 

kmsraj51-rrp2016

हम दिल से आभारी हैं “रवि रंजन पाण्डेय जी” के प्रेरणादायक हिन्दी कविता साझा करने के लिए।

About – Ravi Ranjan Pandey(जर्नलिस्ट एवम् शोधार्थी।) : 

“रवि रंजन पाण्डेय जी” फ़िलहाल भूगोल विषय में यू.जी.सी., जे.आर.एफ के तहत पटना विश्वविद्यालय में शोध कार्य कर रहे है। इन्हे लेखन का शाैक भी है। इनके लेखन में कविता, कहानी व उपन्यास सम्मिलित हैं। रवि रंजन पाण्डेय जी के लेखन समय-समय पर अनेक पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हाेते रहते है। इनकी कविताएं सरल शब्दाे में हाेते हुँये भी हृदयसात करने योग्य है। जाे भी इंसान इन कविताओं काे गहराई(हर शब्दाे का सार) से समझकर आत्मसात करें, उसका जीवन धन्य हाे जायें।

Please Share your comment`s.

© आप सभी का प्रिय दोस्त ®

Krishna Mohan Singh(KMS)
Editor in Chief, Founder & CEO
of,,  https://kmsraj51.com/

जैसे शरीर के लिए भोजन जरूरी है वैसे ही मस्तिष्क के लिए भी सकारात्मक ज्ञान और ध्यान रुपी भोजन जरूरी हैं। ~ कृष्ण मोहन सिंह(KMS)

 ~Kmsraj51

———– © Best of Luck ® ———–

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

cymt-kmsraj51

– कुछ उपयोगी पोस्ट सफल जीवन से संबंधित –

* विचारों की शक्ति-(The Power of Thoughts)

* अपनी आदतों को कैसे बदलें।

निश्चित सफलता के २१ सूत्र।

क्या करें – क्या ना करें।

∗ जीवन परिवर्तक 51 सकारात्मक Quotes of KMSRAJ51

* विचारों का स्तर श्रेष्ठ व पवित्र हो।

* अच्छी आदतें कैसे डालें।

KMSRAJ51 के महान विचार हिंदी में।

* खुश रहने के तरीके हिन्दी में।

* अपनी खुद की किस्मत बनाओ।

* सकारात्‍मक सोच है जीवन का सक्‍सेस मंत्र 

* चांदी की छड़ी।

kmsraj51- C Y M T

“सफलता का सबसे बड़ा सूत्र”(KMSRAJ51)

“स्वयं से वार्तालाप(बातचीत) करके जीवन में आश्चर्यजनक परिवर्तन लाया जा सकता है। ऐसा करके आप अपने भीतर छिपी बुराईयाें(Weakness) काे पहचानते है, और स्वयं काे अच्छा बनने के लिए प्रोत्सािहत करते हैं।”

In English

Amazing changes the conversation yourself can be brought tolife by. By doing this you Recognize hidden within the buraiyaensolar radiation, and encourage good solar radiation to becomethemselves.

 ~KMSRAJ51 (“तू ना हो निराश कभी मन से” किताब से)

“अगर अपने कार्य से आप स्वयं संतुष्ट हैं, ताे फिर अन्य लोग क्या कहते हैं उसकी परवाह ना करें।”

~KMSRAJ51

 

 

 

सुबह की हवाओं में।

Kmsraj51 की कलम से…..

CYMT-KMSRAJ51-4

ϒ सुबह की हवाओं में। ϒ

सुबह की हवाओं में कोई सन्देश है।
दिन की शुरुआत का नया आदेश है।

कमजोर नहीं पड़ना ये पक्षियां कह रही है।
तेरे कदम में जज्बा और जोश है।

नदियों को छेड़ती हवाओं के झोंकों सेे।
प्रेम में भी थोड़ी नोक-झोंक है।

बसंत की ये सुबह-
पीली सरसों पीली धूप।

खेतों में खिली हरियाली।
धरती की ये नई रूप।

सब तुम्हे पूछते है…
क्या आज तुम इंसान हो।

तो काम करो।
अपने लिए ही नही-
सबके लिए प्रतिमान बनों॥

©- रवि रंजन पाण्डेय। ¤ औरंगाबाद (बिहार) 

kmsraj51-rrp2016

हम दिल से आभारी हैं “रवि रंजन पाण्डेय जी” के प्रेरणादायक हिन्दी कविता साझा करने के लिए।

About – Ravi Ranjan Pandey(जर्नलिस्ट एवम् शोधार्थी।) : 

“रवि रंजन पाण्डेय जी” फ़िलहाल भूगोल विषय में यू.जी.सी., जे.आर.एफ के तहत पटना विश्वविद्यालय में शोध कार्य कर रहे है। इन्हे लेखन का शाैक भी है। इनके लेखन में कविता, कहानी व उपन्यास सम्मिलित हैं। रवि रंजन पाण्डेय जी के लेखन समय-समय पर अनेक पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हाेते रहते है। इनकी कविताएं सरल शब्दाे में हाेते हुँये भी हृदयसात करने योग्य है। जाे भी इंसान इन कविताओं काे गहराई(हर शब्दाे का सार) से समझकर आत्मसात करें, उसका जीवन धन्य हाे जायें।

Please Share your comment`s.

© आप सभी का प्रिय दोस्त ®

Krishna Mohan Singh(KMS)
Editor in Chief, Founder & CEO
of,,  https://kmsraj51.com/

जैसे शरीर के लिए भोजन जरूरी है वैसे ही मस्तिष्क के लिए भी सकारात्मक ज्ञान और ध्यान रुपी भोजन जरूरी हैं। ~ कृष्ण मोहन सिंह(KMS)

 ~Kmsraj51

———– © Best of Luck ® ———–

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

cymt-kmsraj51

– कुछ उपयोगी पोस्ट सफल जीवन से संबंधित –

* विचारों की शक्ति-(The Power of Thoughts)

* अपनी आदतों को कैसे बदलें।

निश्चित सफलता के २१ सूत्र।

क्या करें – क्या ना करें।

∗ जीवन परिवर्तक 51 सकारात्मक Quotes of KMSRAJ51

* विचारों का स्तर श्रेष्ठ व पवित्र हो।

* अच्छी आदतें कैसे डालें।

KMSRAJ51 के महान विचार हिंदी में।

* खुश रहने के तरीके हिन्दी में।

* अपनी खुद की किस्मत बनाओ।

* सकारात्‍मक सोच है जीवन का सक्‍सेस मंत्र 

* चांदी की छड़ी।

kmsraj51- C Y M T

“सफलता का सबसे बड़ा सूत्र”(KMSRAJ51)

“स्वयं से वार्तालाप(बातचीत) करके जीवन में आश्चर्यजनक परिवर्तन लाया जा सकता है। ऐसा करके आप अपने भीतर छिपी बुराईयाें(Weakness) काे पहचानते है, और स्वयं काे अच्छा बनने के लिए प्रोत्सािहत करते हैं।”

In English

Amazing changes the conversation yourself can be brought tolife by. By doing this you Recognize hidden within the buraiyaensolar radiation, and encourage good solar radiation to becomethemselves.

 ~KMSRAJ51 (“तू ना हो निराश कभी मन से” किताब से)

“अगर अपने कार्य से आप स्वयं संतुष्ट हैं, ताे फिर अन्य लोग क्या कहते हैं उसकी परवाह ना करें।”

~KMSRAJ51

 

 

वृक्ष का रूदन।

Kmsraj51 की कलम से…..

CYMT-KMSRAJ51-4

ϒ वृक्ष का रूदन। ϒ

मैं वृक्ष अभी हूं नन्हा सा।
मै अभी ही जग मे आया हूं।
मन में सिंचित उत्साह लिए।
बस बढ़ने को ललचाया हूं॥

ना फिक्र अभी मुझको कल की।
ना दुखता सा अतीत मेरा।
मुझे वर्तमान मे जीना है।
कुछ ऐसा ही है प्रीत मेरा॥

मैं मस्त हू अपने यौवन मे।
मानवता का सृंगार लिए।
कुछ लोगो के जीवन लीला का।
प्रतिविबिंत सा आकार लिए॥

जब हुआ बड़ा एहसास हुआ।
यह बचपन नही जवानी है।
कल जिस पर था अभिमान मुझे।
आज उसी से मेरी हानी है॥

उस बचपन की अंगड़ाई मे।
ना मुझसे था कोई लाभ उसे।
फिर भी वह इतना अपना था।
जैसे एक बेटा बाप रहे॥

पर आज मैं फल भी देता हूं।
लकड़ी संग छाया मुफ्त उसे।
फिर भी ना कद्र मेरी उसको।
ना मेरी कोई फिक्र उसे॥

यह बदली-बदली रंगत क्यो।
मुझको इसका एहसास नही।
मै प्यार का भूखा प्यासा हूं।
किसी और चीज की प्यास नही॥

क्यूं समझ न लोगो को आये।
हम नि:स्वार्थ ही जीते हैं।
ना अपना कोई लाभ कभी।
सदा परोपकार ही करतें हैं॥

©- अशोक सिह, – आजमगढ़, उत्तर प्रदेश। 

ashok-singh-kmsraj51

हम दिल से आभारी हैं अशोक सिह जी के प्रेरणादायक हिन्दी कविता साझा करने के लिए।

About Ashok Singh – अशोक जी के शब्दाें में – अभी मैं IAS की तैयारी कर रहा हूँ। दिल मे समाज सेवा की लौ जलाये हुए कुछ बेहतर करने को प्रयासरत हूँ और अपना सत प्रतिशत देने को तत्पर। मेरा HOBBY कविताएं लिखना , दक्षिण भारत की फिल्में देखना, क्रिकेट खेलना ,समाज से जुङे रहना, संगीत सुनना(खासकर पुराने) शामिल है।

अशोक सिह जी के लिए मेरे विचार: 

“अशोक सिह जी” की कविताआे के हर एक शब्द में प्राकृतिक सौंदर्य का अलाैकिक सार भरा हैं। जाे हर एक शब्द पर विचार सागर-मंथन कर हृदयसात करने योग्य हैं। कविताऐं छोटी और सरल शब्दाे में हाेते हुँये भी हृदयसात करने योग्य हैं। जाे भी इंसान इन कविताओं काे गहराई(हर शब्दाे का सार) से समझकर आत्मसात करें, उसका जीवन धन्य हाे जायें।

Please Share your comment`s.

© आप सभी का प्रिय दोस्त ®

Krishna Mohan Singh(KMS)
Editor in Chief, Founder & CEO
of,,  http://kmsraj51.com/

जैसे शरीर के लिए भोजन जरूरी है वैसे ही मस्तिष्क के लिए भी सकारात्मक ज्ञान और ध्यान रुपी भोजन जरूरी हैं। ~ कृष्ण मोहन सिंह(KMS)

 ~Kmsraj51

———– © Best of Luck ® ———–

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

cymt-kmsraj51

– कुछ उपयोगी पोस्ट सफल जीवन से संबंधित –

* विचारों की शक्ति-(The Power of Thoughts)

* अपनी आदतों को कैसे बदलें।

निश्चित सफलता के २१ सूत्र।

क्या करें – क्या ना करें।

∗ जीवन परिवर्तक 51 सकारात्मक Quotes of KMSRAJ51

* विचारों का स्तर श्रेष्ठ व पवित्र हो।

* अच्छी आदतें कैसे डालें।

KMSRAJ51 के महान विचार हिंदी में।

* खुश रहने के तरीके हिन्दी में।

* अपनी खुद की किस्मत बनाओ।

* सकारात्‍मक सोच है जीवन का सक्‍सेस मंत्र 

* चांदी की छड़ी।

kmsraj51- C Y M T

“सफलता का सबसे बड़ा सूत्र”(KMSRAJ51)

“स्वयं से वार्तालाप(बातचीत) करके जीवन में आश्चर्यजनक परिवर्तन लाया जा सकता है। ऐसा करके आप अपने भीतर छिपी बुराईयाें(Weakness) काे पहचानते है, और स्वयं काे अच्छा बनने के लिए प्रोत्सािहत करते हैं।”

In English

Amazing changes the conversation yourself can be brought tolife by. By doing this you Recognize hidden within the buraiyaensolar radiation, and encourage good solar radiation to becomethemselves.

 ~KMSRAJ51 (“तू ना हो निराश कभी मन से” किताब से)

“अगर अपने कार्य से आप स्वयं संतुष्ट हैं, ताे फिर अन्य लोग क्या कहते हैं उसकी परवाह ना करें।”

~KMSRAJ51

 

 

समय – इस दुनिया के पन्ने में तू रोल मॉडल बन जायेगा।

Kmsraj51 की कलम से…..

CYMT-KMSRAJ51-4

ϒ समय – इस दुनिया के पन्ने में तू रोल मॉडल बन जायेगा। ϒ

समय…………
किसने सोचा है किसने समझा है।
एक अनसमझा एहसास।
अनबुझी पहेली॥

जब तक नजर टिके निकल जाये।
जाते हुए यादों का गम दे जाये॥

समय…………….
लोगों को एहसास नहीं।
क्या खोया क्या पाया।

क्या साया भी कभी अपना बन पाया।
क्यू अनजान पहेलियों मे उलझा हूं।
क्यूं आज भी न समाज को समझा हूं॥

समय…………
समझने का प्रयास करो समझ आयेगी।
सम्मान करो! रास्ता दिखलायेगी।
अनुशासित बनो मंजिल मिलेगी।
जो भी फिर चाहो कली खिलेगी॥

समय……………..
सही गलत की पहचान।
गलतफहमियो मे फसा इंसान।
अपनो को ठुकराता है।
दूर को पास बुलाता है।
यह अनसुलझी पहेली बन जाती है।
और जीवन भर तड़पाती है॥

समय……………
एक बार तुझे उठना होगा।
जीवन में दौड़ लगाने को।
इस सोची समझी साजिश से।
अपने को पार यूं पाने को॥

ना कष्ट कोई आयेगा फिर।
ये मेरा तुझसे वादा है।
तूं एक बार तो देख जरा।
कुछ ऐसा मेरा इरादा है॥

हर कठिनाई को तोड़ के तूं-
अपना परचम लहरायेगा।
और इस दुनियां के पन्ने में-
तूं रोल माडल बन जायेगा॥

©- अशोक सिह, – आजमगढ़, उत्तर प्रदेश। 

ashok-singh-kmsraj51

हम दिल से आभारी हैं अशोक सिह जी के प्रेरणादायक हिन्दी कविता साझा करने के लिए।

About Ashok Singh – अशोक जी के शब्दाें में – अभी मैं IAS की तैयारी कर रहा हूँ। दिल मे समाज सेवा की लौ जलाये हुए कुछ बेहतर करने को प्रयासरत हूँ और अपना सत प्रतिशत देने को तत्पर। मेरा HOBBY कविताएं लिखना , दक्षिण भारत की फिल्में देखना, क्रिकेट खेलना ,समाज से जुङे रहना, संगीत सुनना(खासकर पुराने) शामिल है।

अशोक सिह जी के लिए मेरे विचार: 

“अशोक सिह जी” की कविताआे के हर एक शब्द में प्राकृतिक सौंदर्य का अलाैकिक सार भरा हैं। जाे हर एक शब्द पर विचार सागर-मंथन कर हृदयसात करने योग्य हैं। कविताऐं छोटी और सरल शब्दाे में हाेते हुँये भी हृदयसात करने योग्य हैं। जाे भी इंसान इन कविताओं काे गहराई(हर शब्दाे का सार) से समझकर आत्मसात करें, उसका जीवन धन्य हाे जायें।

Please Share your comment`s.

© आप सभी का प्रिय दोस्त ®

Krishna Mohan Singh(KMS)
Editor in Chief, Founder & CEO
of,,  http://kmsraj51.com/

जैसे शरीर के लिए भोजन जरूरी है वैसे ही मस्तिष्क के लिए भी सकारात्मक ज्ञान और ध्यान रुपी भोजन जरूरी हैं। ~ कृष्ण मोहन सिंह(KMS)

 ~Kmsraj51

———– © Best of Luck ® ———–

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

cymt-kmsraj51

– कुछ उपयोगी पोस्ट सफल जीवन से संबंधित –

* विचारों की शक्ति-(The Power of Thoughts)

* अपनी आदतों को कैसे बदलें।

निश्चित सफलता के २१ सूत्र।

क्या करें – क्या ना करें।

∗ जीवन परिवर्तक 51 सकारात्मक Quotes of KMSRAJ51

* विचारों का स्तर श्रेष्ठ व पवित्र हो।

* अच्छी आदतें कैसे डालें।

KMSRAJ51 के महान विचार हिंदी में।

* खुश रहने के तरीके हिन्दी में।

* अपनी खुद की किस्मत बनाओ।

* सकारात्‍मक सोच है जीवन का सक्‍सेस मंत्र 

* चांदी की छड़ी।

kmsraj51- C Y M T

“सफलता का सबसे बड़ा सूत्र”(KMSRAJ51)

“स्वयं से वार्तालाप(बातचीत) करके जीवन में आश्चर्यजनक परिवर्तन लाया जा सकता है। ऐसा करके आप अपने भीतर छिपी बुराईयाें(Weakness) काे पहचानते है, और स्वयं काे अच्छा बनने के लिए प्रोत्सािहत करते हैं।”

In English

Amazing changes the conversation yourself can be brought tolife by. By doing this you Recognize hidden within the buraiyaensolar radiation, and encourage good solar radiation to becomethemselves.

 ~KMSRAJ51 (“तू ना हो निराश कभी मन से” किताब से)

“अगर अपने कार्य से आप स्वयं संतुष्ट हैं, ताे फिर अन्य लोग क्या कहते हैं उसकी परवाह ना करें।”

~KMSRAJ51

 

 

 

भगवान तुम मुझे रोज मिलते।

Kmsraj51 की कलम से…..

CYMT-KMSRAJ51-4

ϒ भगवान तुम मुझे रोज मिलते। ϒ

भगवान तुम मुझे रोज मिलते।
मेरे दिल के मंदिर में।

फिर मै मन्दिर क्यों जाऊ।
तेरे ही ख्यालों में।

अल्लाह तुम मुझे रोज पुकारते।
स्टेशन चौक चौराहों पे।

फिर मै तुम्हें क्यों पुकारू-
मस्जिद के अजानों में।

ईसा तुम मुझे रोज सिखाते।
बड़े बूढों की सलाहों में।

फिर चर्च क्यों जाऊ।
केवल शीश झुकाने को।

माना तेरे कई रूप है।
और है तेरे कई नाम।

अल्ला – इशु चाहे राम।
लेकिन तू तो एक ही है।

सबको सन्मति दे भगवान।

यदि मेरा धर्म है अंधा।
तो अंधा होगा मेरा ईमान।

इस दुनियां के गोरखधंधे में।
अँधा मत होना भगवान।

चाहे शिया हूँ चाहे सुन्नी।
हूँ तो मै तेरा संतान।

केवल तू मजहब नहीं देखता।
देखता है सबका ईमान।

कट्टर मै कितना क्यों नहीं हूँ।
काटूँगा नहीं अपना हाथ।

केवल तुझे बदनाम करने को।
लगता हूँ मै जग में आग।

एक बार तू आ के बता जा।
हम सब है तेरे संतान।

भाई-भाई न लड़े हम।
मिल कर करे जगत कल्याण।

©- रवि रंजन पाण्डेय। ¤ औरंगाबाद (बिहार) 

kmsraj51-rrp2016

हम दिल से आभारी हैं “रवि रंजन पाण्डेय जी” के प्रेरणादायक हिन्दी कविता साझा करने के लिए।

About – Ravi Ranjan Pandey(जर्नलिस्ट एवम् शोधार्थी।) : 

“रवि रंजन पाण्डेय जी” फ़िलहाल भूगोल विषय में यू.जी.सी., जे.आर.एफ के तहत पटना विश्वविद्यालय में शोध कार्य कर रहे है। इन्हे लेखन का शाैक भी है। इनके लेखन में कविता, कहानी व उपन्यास सम्मिलित हैं। रवि रंजन पाण्डेय जी के लेखन समय-समय पर अनेक पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हाेते रहते है। इनकी कविताएं सरल शब्दाे में हाेते हुँये भी हृदयसात करने योग्य है। जाे भी इंसान इन कविताओं काे गहराई(हर शब्दाे का सार) से समझकर आत्मसात करें, उसका जीवन धन्य हाे जायें।

Please Share your comment`s.

© आप सभी का प्रिय दोस्त ®

Krishna Mohan Singh(KMS)
Editor in Chief, Founder & CEO
of,,  https://kmsraj51.com/

जैसे शरीर के लिए भोजन जरूरी है वैसे ही मस्तिष्क के लिए भी सकारात्मक ज्ञान और ध्यान रुपी भोजन जरूरी हैं। ~ कृष्ण मोहन सिंह(KMS)

 ~Kmsraj51

———– © Best of Luck ® ———–

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

cymt-kmsraj51

– कुछ उपयोगी पोस्ट सफल जीवन से संबंधित –

* विचारों की शक्ति-(The Power of Thoughts)

* अपनी आदतों को कैसे बदलें।

निश्चित सफलता के २१ सूत्र।

क्या करें – क्या ना करें।

∗ जीवन परिवर्तक 51 सकारात्मक Quotes of KMSRAJ51

* विचारों का स्तर श्रेष्ठ व पवित्र हो।

* अच्छी आदतें कैसे डालें।

KMSRAJ51 के महान विचार हिंदी में।

* खुश रहने के तरीके हिन्दी में।

* अपनी खुद की किस्मत बनाओ।

* सकारात्‍मक सोच है जीवन का सक्‍सेस मंत्र 

* चांदी की छड़ी।

kmsraj51- C Y M T

“सफलता का सबसे बड़ा सूत्र”(KMSRAJ51)

“स्वयं से वार्तालाप(बातचीत) करके जीवन में आश्चर्यजनक परिवर्तन लाया जा सकता है। ऐसा करके आप अपने भीतर छिपी बुराईयाें(Weakness) काे पहचानते है, और स्वयं काे अच्छा बनने के लिए प्रोत्सािहत करते हैं।”

In English

Amazing changes the conversation yourself can be brought tolife by. By doing this you Recognize hidden within the buraiyaensolar radiation, and encourage good solar radiation to becomethemselves.

 ~KMSRAJ51 (“तू ना हो निराश कभी मन से” किताब से)

“अगर अपने कार्य से आप स्वयं संतुष्ट हैं, ताे फिर अन्य लोग क्या कहते हैं उसकी परवाह ना करें।”

~KMSRAJ51

 

 

 

फसल से लहलहाते खेत में।

Kmsraj51 की कलम से…..

CYMT-KMSRAJ51-4

ϒ फसल से लहलहाते खेत में। ϒ

फसल से लहलहाते खेत में।
बंदूके कहाँ से उग गये।

किसानी संस्कृति और परम्परा-
जाने कहाँ डूब गये।

अब हर तरफ आतंक है।
क्या ख़ास और क्या आम।

ठिठुरी हुई है जहाँ सुबह।
सहमी हुई है जहाँ शाम।

कल तक ठहाके लगते जहाँ।
कहाँ गये वो खेत खलिहान।

स्कूलों में शिक्षा मिलते जहाँ।
वहां लिखा है लाल सलाम।

दोष किसे दे यह जनता आम।
किसे सुनाये अपनी फरियाद।

पुलिसकर्मी और लाल कुर्ता।
दोनों लुटते एक समान।

भरते जेब और गाल बजाते।
झुक-झुक कर ये सर उठाते।

सुन्न करते झोंपड़ी-मकान।
कहाँ से आये ऐसे हैवान।

थाना बना जुवाड़ीखाना।
बना राजनीति का पैमाना।

भोले-भाले जनता को।
पहनता है वह पैजामा।

काश! ये सब बंद हो जाता।
शांतिपूर्ण दिन हो जाता।

जीवन जीते हमलोग समान्य।
खूब लगते बगीचें आम।

©- रवि रंजन पाण्डेय। ¤ औरंगाबाद (बिहार) 

kmsraj51-rrp2016

हम दिल से आभारी हैं “रवि रंजन पाण्डेय जी” के प्रेरणादायक हिन्दी कविता साझा करने के लिए।

About – Ravi Ranjan Pandey(जर्नलिस्ट एवम् शोधार्थी।) : 

“रवि रंजन पाण्डेय जी” फ़िलहाल भूगोल विषय में यू.जी.सी., जे.आर.एफ के तहत पटना विश्वविद्यालय में शोध कार्य कर रहे है। इन्हे लेखन का शाैक भी है। इनके लेखन में कविता, कहानी व उपन्यास सम्मिलित हैं। रवि रंजन पाण्डेय जी के लेखन समय-समय पर अनेक पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हाेते रहते है। इनकी कविताएं सरल शब्दाे में हाेते हुँये भी हृदयसात करने योग्य है। जाे भी इंसान इन कविताओं काे गहराई(हर शब्दाे का सार) से समझकर आत्मसात करें, उसका जीवन धन्य हाे जायें।

Please Share your comment`s.

© आप सभी का प्रिय दोस्त ®

Krishna Mohan Singh(KMS)
Editor in Chief, Founder & CEO
of,,  https://kmsraj51.com/

जैसे शरीर के लिए भोजन जरूरी है वैसे ही मस्तिष्क के लिए भी सकारात्मक ज्ञान और ध्यान रुपी भोजन जरूरी हैं। ~ कृष्ण मोहन सिंह(KMS)

 ~Kmsraj51

———– © Best of Luck ® ———–

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

cymt-kmsraj51

– कुछ उपयोगी पोस्ट सफल जीवन से संबंधित –

* विचारों की शक्ति-(The Power of Thoughts)

* अपनी आदतों को कैसे बदलें।

निश्चित सफलता के २१ सूत्र।

क्या करें – क्या ना करें।

∗ जीवन परिवर्तक 51 सकारात्मक Quotes of KMSRAJ51

* विचारों का स्तर श्रेष्ठ व पवित्र हो।

* अच्छी आदतें कैसे डालें।

KMSRAJ51 के महान विचार हिंदी में।

* खुश रहने के तरीके हिन्दी में।

* अपनी खुद की किस्मत बनाओ।

* सकारात्‍मक सोच है जीवन का सक्‍सेस मंत्र 

* चांदी की छड़ी।

kmsraj51- C Y M T

“सफलता का सबसे बड़ा सूत्र”(KMSRAJ51)

“स्वयं से वार्तालाप(बातचीत) करके जीवन में आश्चर्यजनक परिवर्तन लाया जा सकता है। ऐसा करके आप अपने भीतर छिपी बुराईयाें(Weakness) काे पहचानते है, और स्वयं काे अच्छा बनने के लिए प्रोत्सािहत करते हैं।”

In English

Amazing changes the conversation yourself can be brought tolife by. By doing this you Recognize hidden within the buraiyaensolar radiation, and encourage good solar radiation to becomethemselves.

 ~KMSRAJ51 (“तू ना हो निराश कभी मन से” किताब से)

“अगर अपने कार्य से आप स्वयं संतुष्ट हैं, ताे फिर अन्य लोग क्या कहते हैं उसकी परवाह ना करें।”

~KMSRAJ51