तेरे बिन घर वन लगता है बाकी सब कुछ अच्छा है।

Kmsraj51 की कलम से…..
Kmsraj51-CYMT-JUNE-15

ϒ तेरे बिन घर वन लगता है बाकी सब कुछ अच्छा है। ϒ

तेरे बिन घर वन लगता है बाकी सब कुछ अच्छा है।

तुझ बिन बेटे जी डरता है बाकी सब कुछ अच्छा है।

माँ तेरी बीमार पड़ी है गुमसुम बहना भी रहती।

भैया का भी हाल बुरा है  बाकी सब कुछ अच्छा है।

दादी तेरी बुढिया हैं  पर चूल्हा-चौका हैं  करती।

कोई न उनका दुख हरता है बाकी सब कुछ अच्छा है।

दादा जी पूछा करते हैं अक्सर तेरे बारे में,

आँख से उनको कम दिखता है बाकी सब कुछ अच्छा है।

अन्न न उपजा खेतों में और मालगुजारी है बाक़ी,

गैया घर में भूखी बैठी बाकी सब कुछ अच्छा है।

तू बैठा परदेस यहाँ पर बहना शादी जोग हुई।

सोच के मेरा जी डरता है बाकी सब कुछ अच्छा है।

समय मिले तो आना बेटा मुनिया को भी साथ लिए,

मिलने को बस जी करता है बाकी सब कुछ अच्छा है।

मत करना तू चिंता घर की खुश रहना तू लाल वहाँ।

और मैं ज्यादा क्या कह सकता बाकी सब कुछ अच्छा है॥

© बैजनाथ शर्मा मिंटू’ ®
धन्यवाद!
बैजनाथ शर्मा जी।
अहमदाबाद (गुजरात)

बैजनाथ शर्मा जी के लिए मेरे विचार: 

बैजनाथ शर्मा जी आपकी ग़ज़ल सरल शब्दों में बहुत कुछ कह जाती हैं। आपकी ग़ज़ल दिल की गहराईयाें तक अपनी पहुँच बनाती है।

Post share by “बैजनाथ शर्मा जी।” I am grateful to Mr. बैजनाथ शर्मा जी। for sharing this inspirational Hindi ग़ज़ल.
Baijnath Sharma-KMSRAJ51

बैजनाथ शर्मा जी।

पढ़ेंविमल गांधी जी कि शिक्षाप्रद कविताओं का विशाल संग्रह।

Please Share your comment`s.

© आप सभी का प्रिय दोस्त ®

Krishna Mohan Singh(KMS)
Head Editor, Founder & CEO
of,,  http://kmsraj51.com/

जैसे शरीर के लिए भोजन जरूरी है वैसे ही मस्तिष्क के लिए भी सकारात्मक ज्ञान रुपी भोजन जरूरी हैं। ~ कृष्ण मोहन सिंह(KMS)

 ~Kmsraj51

———– © Best of Luck ® ———–

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

cymt-kmsraj51

– कुछ उपयोगी पोस्ट सफल जीवन से संबंधित –

* विचारों की शक्ति-(The Power of Thoughts)

निश्चित सफलता के २१ सूत्र।

∗ जीवन परिवर्तक 51 सकारात्मक Quotes of KMSRAJ51

KMSRAJ51 के महान विचार हिंदी में।

* खुश रहने के तरीके हिन्दी में।

* अपनी खुद की किस्मत बनाओ।

* सकारात्‍मक सोच है जीवन का सक्‍सेस मंत्र 

* चांदी की छड़ी।

kmsraj51- C Y M T

“सफलता का सबसे बड़ा सूत्र”(KMSRAJ51)

“स्वयं से वार्तालाप(बातचीत) करके जीवन में आश्चर्यजनक परिवर्तन लाया जा सकता है। ऐसा करके आप अपने भीतर छिपी बुराईयाें(Weakness) काे पहचानते है, और स्वयं काे अच्छा बनने के लिए प्रोत्सािहत करते हैं।”

In English

Amazing changes the conversation yourself can be brought tolife by. By doing this you Recognize hidden within the buraiyaensolar radiation, and encourage good solar radiation to becomethemselves.

 ~KMSRAJ51 (“तू ना हो निराश कभी मन से” किताब से)

“अगर अपने कार्य से आप स्वयं संतुष्ट हैं, ताे फिर अन्य लोग क्या कहते हैं उसकी परवाह ना करें।”

~KMSRAJ51

 

Advertisements

कन्हैया तुम्हारी झलक चाहते है।

Kmsraj51 की कलम से…..

CYMT-KMSRAJ51-4

ϒ कन्हैया तुम्हारी झलक चाहते है। ϒ

SriKrishna-Radharani-kmsraj51

श्रीकृष्ण-श्रीराधारानी।

सब कुछ है तेरा तुम प्रियतम मेरे हो।
बेबस से फिर काहे ऐसे अलग हो।

मिटे न कभी वो तलब चाहते है।
जो झपके न ऐसी पलक चाहते है।

कन्हैया तुम्हारी झलक चाहते है।
जो झपके न ऐसी पलक चाहते है।

तुम्हारे ख्यालों में बीते ये जीवन।
तुम्हारे ही चरणों में होए मगन हम।

तुम्हे देखने की ललक चाहते है।
कन्हैया तुम्हारी झलक चाहते है।

नहीं रौशनी चाँद सूरज की चाहते।
नहीं चांदनी की माला ही बाटे।

तुम्हारे मुकुट की चमक चाहते है।
जो झपके न ऐसी पलक चाहते है।

थकू न कभी श्याम गुण तेरे गाते-गाते।
ये संसार के गीत अब न सुहाते।

नुपुर की बस अब झनक चाहते है।
कन्हैया तुम्हारी झलक चाहते है।

सब कुछ है तेरा तुम प्रियतम मेरे हो।
बेबस से फिर काहे ऐसे अलग हो।

मिटे न कभी वो तलब चाहते है।
जो झपके न ऐसी पलक चाहते है।

सखी कहे! मन बसिया।

कन्हैया तुम्हारी झलक चाहते है।
जो झपके न ऐसी पलक चाहते है।

कन्हैया तुम्हारी झलक चाहते है।
जो झपके न ऐसी पलक चाहते है।

© जया शर्मा किशोरी। 

Please Share your comment`s.

© आप सभी का प्रिय दोस्त ®

Krishna Mohan Singh(KMS)
Head Editor, Founder & CEO
of,,  http://kmsraj51.com/

जैसे शरीर के लिए भोजन जरूरी है वैसे ही मस्तिष्क के लिए भी सकारात्मक ज्ञान और ध्यान रुपी भोजन जरूरी हैं। ~ कृष्ण मोहन सिंह(KMS)

 ~Kmsraj51

———– © Best of Luck ® ———–

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

cymt-kmsraj51

– कुछ उपयोगी पोस्ट सफल जीवन से संबंधित –

* विचारों की शक्ति-(The Power of Thoughts)

* अपनी आदतों को कैसे बदलें।

निश्चित सफलता के २१ सूत्र।

क्या करें – क्या ना करें।

∗ जीवन परिवर्तक 51 सकारात्मक Quotes of KMSRAJ51

* विचारों का स्तर श्रेष्ठ व पवित्र हो।

* अच्छी आदतें कैसे डालें।

KMSRAJ51 के महान विचार हिंदी में।

* खुश रहने के तरीके हिन्दी में।

* अपनी खुद की किस्मत बनाओ।

* सकारात्‍मक सोच है जीवन का सक्‍सेस मंत्र 

* चांदी की छड़ी।

kmsraj51- C Y M T

“सफलता का सबसे बड़ा सूत्र”(KMSRAJ51)

“स्वयं से वार्तालाप(बातचीत) करके जीवन में आश्चर्यजनक परिवर्तन लाया जा सकता है। ऐसा करके आप अपने भीतर छिपी बुराईयाें(Weakness) काे पहचानते है, और स्वयं काे अच्छा बनने के लिए प्रोत्सािहत करते हैं।”

In English

Amazing changes the conversation yourself can be brought tolife by. By doing this you Recognize hidden within the buraiyaensolar radiation, and encourage good solar radiation to becomethemselves.

 ~KMSRAJ51 (“तू ना हो निराश कभी मन से” किताब से)

“अगर अपने कार्य से आप स्वयं संतुष्ट हैं, ताे फिर अन्य लोग क्या कहते हैं उसकी परवाह ना करें।”

~KMSRAJ51

 

 

 

बस यही बताना था

Kmsraj51 की कलम से…..

Kmsraj51-CYMT08

बस यही बताना था(अनुराधा त्रिवेदी सिंह)

आज अपने बेटे को झूठ भी सिखाना है

चाँद जैसे माथे पर

असत का काला टीका, कैसे भी सजाना है

आज मुझे बेटे को झूठ भी सिखाना है ।

आज तक बताया था कुछ गलत नहीं करना

चाहे जो भी हो जाये सच से तुम नहीं डरना

सत की राह पर चलते दण्ड के भागी बनना

पर कभी तुम्हें न सिर ग्लानि से झुकाना है ।

आज मैं बताऊँगी कि कभी-कभी दुनिया

सच से रूठ जाती है, मान झूठ जाती है

आज मैं बताऊँगी कैसे कुछ सगे रिश्ते

सच से टूट जाते हैं,फिर नहीं जुड़ पाते हैं।

और ये कि जीवन में सब सही नहीं होता

एक रंग सिलेटी भी कैनवास पे होता है

हर कहीं सफ़ेदी या स्याह रंग नहीं होता।

आज वो ये जानेगा, नज़रें फेर लेने में,

भी बड़ी दिलेरी है, सबने नज़रें फेरीं हैं।

आम आदमी हैं हम, हर कथा के नायक हैं

पर हरेक मौक़े पर मूक ही रहे हैं हम

ये नहीं कि कायर थे, वक़्त का तक़ाज़ा था ।

साथ ही बताऊँगी, जब भी तुम बड़े होगे

सच का साथ ही देना

बस यही बताना था इस अनोखी दुनिया में

सबके सच अलहदा हैं, सबकी कसौटी अपनी ।

आज साँझ की बेला शीशे जैसी आँखों में

एक बाल रखना है

आज साँझ की बेला नन्ही भोली आँखों से

एक सच परखना है ।

—————————————————

We are grateful to Anuradha Trivedi Singh Ji for sharing this inspirational Hindi poetry with http://kmsraj51.com/ readers.

Blog by Anuradha Trivedi Singh ji  http://anuradhadei.blogspot.in/

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

cymt-kmsraj51

अगर जीवन में सफल हाेना हैं. ताे जहाँ १० शब्दाें से काेई बात बन जाये वहा पर

१०० शब्द बाेलकर अपनी मानसिक और वाणी की ऊर्जा को नष्ट नहीं करना चाहिए॥

-Kmsraj51

 

 

_______Copyright © 2014 kmsraj51.com All Rights Reserved.________