संदेह करोगे तो नहीं मिलेगी सफलता।

Kmsraj51 की कलम से…..

Kmsraj51-CYMT-Oct-14-1

संदेह करोगे तो नहीं मिलेगी सफलता।

संदेह करोगे तो नहीं मिलेगी सक्सेस शेक्सपियर ने लिखा था, “हमारे संदेह गद्दार हैं। हम जो सफलता प्राप्त कर सकते हैं, वह नहीं कर पाते, क्यूंकि संदेह में पड़कर प्रयत्न ही नहीं करते।” इंसान का स्वाभाव ही ऐसा होता है कि कोई काम शुरू करता है और थोडा सा भी संदेह होने पर काम को रोक देता है और उत्साह पर पानी फिर जाता है। संदेह कि बजाय इंसान को विश्वास को ज्यादा तरजीह देनी चाहिए।
जीवन में आगे बढ़ने के लिए इंसान प्रयत्न करता है और इस प्रयत्न पर संदेह के कारण पानी फिर जाता है। संदेह व्यक्ति के उत्साह को कम कर देता है। संदेह के कारण इंसान सही समय का इंतजार करता रह जाता है। उसे लगता है कि उचित अवसर आने पर काम करूंगा। जो लोग अपनी योग्यता पर शक करते हैं, वे हमेशा दुविधा में रहते हैं कि काम को शुरू भी किया जाए या नहीं। वे हमेशा काम को टालते रहते हैं। उन्हें हमेशा यही महसूस होता है कि अभी सही समय नहीं आया है। वे अपनी दिशा तय नहीं कर पाते और इधर-उधर भटकते रहते हैं। संदेह से पीछा छुड़ाने के लिए मन में विश्वास पैदा करना होगा कि जो काम शुरू किया है, उसमें सफलता जरूर मिलेगी।

“अगर सच्चे-मन से जीवन में कुछ करने की ठान लाे, ताे सफलता आपकाे जरुर मिलेगी।”-Kmsraj51

अगर व्यक्ति अपने मन में विश्वास रखे कि वह एक बड़े पुरस्कार के लिए काम कर रहा है और जीत उसी की होगी, तो सफलता निश्चित है। विश्वास एक टॉनिक है, जो इंसान की सारी शक्तियों को सक्रिय कर देता है। संदेह होने पर इंसान कोशिश करना बंद कर देता है और विश्वास के कारण वह मुश्किलों में भी आगे बढ़ता रहता है। अब यह आप पर है कि आप किसे चुनते हैं। मन में बैठे संदेहों को दूर करने के लिए सफलता की मनोकामना भी जरूरी है। जब तक आप खुद संदेह को मौका नहीं देते, तब तक वह आप पर हावी नहीं हो सकता। एक कहावत है, “निश्चय कर लो कि तुम सही हो और फिर आगे बढ़ते जाओ, पर सारा दिन निश्चय करने में व्यतीत मत कर दो।”

मेरा यही मानना है कि, किसी चीज या परिस्थिति पर शक करने की बजाय आपको तुरंत फैसले लेने होंगे, तभी तेजी से तरक्की कर पाएंगे। आपको अपने मन को समझना होगा और तय करना होगा कि आपको कहां जाना है। संदेह के कारण आप बैठे रहेंगे और दुनिया आगे बढ़ती जाएगी। अपने मन में छुपे डरों को दूर करके विश्वास की ताकत को समझिए। ज्यादातर लोग संदेह इसलिए करते हैं, क्योंकि उनके मन में नकारात्मकता होती है।

उन्हें लगता है कि वे सफलता के काबिल नहीं है। अगर उन्हें थोड़ी सी विफलता मिलती है तो वे हार मान लेते हैं। इसकी बजाय विफलता मिलने पर ज्यादा ताकत के साथ आगे बढ़ना चाहिए। संदेह को दूर भगाएं। मन में विश्वास जगाएं कि आप आगे बढ़ सकते हैं, आप काबिल हैं और आप भी सफल हो सकते हैं।

– In English –

Will not doubt would success Shakespeare wrote, “our suspicions are a traitor. We can achieve success, which he cannot do because not only suspected padkar endeavours.”There is no such human according to work and a little bit too doubt stops the work and enthusiasm are defeated on. Doubt that instead should be more inclined to trust. Striving to move forward in human life and endeavour goes awry due to doubts. Reduces the enthusiasm of individual suspicion. Due to the suspicion is the right person waits of time. It will work on that reasonable opportunity. Those who doubt their abilities, they always live in a dilemma whether to even start that work. They always keep to avoid work. They always feel that there is just the right time. They may not be able to determine your direction and around languish. Rigid suspiciously must instill confidence in mind for what is success will of course began to work. If the person believes in his mind that he is working for a big prize and win would be the same, then success is sure. Faith is a tonic, which gives all powers of the active person. Doubt stops the person try and believe in odds because he moves forward. Now it’s up to you to whom you choose. To overcome the doubts in the minds of her desire is also required. As long as you do not suspect himself, he could not prevail upon you. Get a saying, “surely you’re right and then moving on to decide to go, don’t spend all day on the two.” I only believe that, instead of doubting a thing or situation you will immediately the fast decisions may be able to elevate. You have to understand his mind and decide whether you where to go. Doubt you will be seated and the world will grow further. By removing hidden in your mind and persisted in faith know the power of. Most people suspect so, because his mind is negativity. They think they don’t deserve the success. If they lose the slightest failure if they assume. Instead when a failure should move forward with more force. The suspicion bhagaen. Jagaen believe in mind that you can proceed, you deserve it and you too can be successful. 

Priyank Dubey

Roorkee-Uttarakhand

We are grateful to Priyank Dubey Ji for sharing this inspirational Hindi story with KMSRAJ51 readers.

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

cymt-kmsraj51

सफलता कठोर मेहनत और खुद पर भरोसा करने से मिलती है।

यह गिफ्ट में या धनी परिवार में पैदा होने से नहीं मिलती है।

-Kmsraj51

– कुछ उपयोगी पोस्ट सफल जीवन से संबंधित –

* विचारों की शक्ति-(The Power of Thoughts)

http://wp.me/p3gkW6-1dk

* खुश रहने के तरीके हिन्दी में।

http://wp.me/p3gkW6-mn

* अपनी खुद की किस्मत बनाओ।

http://wp.me/p3gkW6-1dD

* सकारात्‍मक सोच है जीवन का सक्‍सेस मंत्र 

http://wp.me/p3gkW6-Ig

* चांदी की छड़ी।

http://wp.me/p3gkW6-1ep

 

 

_______Copyright © 2014 kmsraj51.com All Rights Reserved.________

Advertisements

विचारों की शक्ति-(The Power of Thoughts)

Kmsraj51 की कलम से…..

CYMT-Kmsraj51

विचारों की शक्ति

विचारों की शक्ति – एक ऐसी शक्ति जिसे खुद(स्वयं) अनुभव ना कराें जब तक, तब तक विश्वास ही नहीं हाेता। अपने मन से निगेटिव विचारों काे हटाने का आसान तरिका है, कि नकारात्मक ना हि देखें, ना हीं सुने, ना हि पढ़ें। हमेशा सकारात्मक हि देखें, सकारात्मक हीं सुने, सकारात्मक हि पढ़ें आैर सकारात्मक हि करे। अपने विचारों की शक्ति काे आप तभी समझ सकते हैं, जब आपका मन शांत हाेगा, आैर मन शांत तब हाेगा जब मन के अंदर विचारों की संख्या कम हाेगी। मन के अंदर विचारों की संख्या कम करने का आसान तरिका है, कि अपनी मानसिक शक्तियाें काे याद करें, अथा॔त ध्यान(Meditation) कि मदद से अपने अच्छे(सही) आैर बुरे(गलत) विचारों काे समझना सीखें। मन के अंदर विचारों की संख्या कम आैर सकारात्मक (Positive) विचारों के हाेने से किसी भी मानव की निर्णय शक्ति अपने आप अच्छी हाे जाती हैं। निर्णय शक्ति अच्छी हाेने से मानव सही फैसला(निर्णय) लेने लगता है, जिससे सब काम(कार्य) सरलता पूर्वक पूर्ण हाेने लगते हैं। मानव स्वतः सुखीं और आनंदपूर्ण जीवन जीने लगता हैं।

विचारों की शक्ति से कुछ भी करना संभव है। मन जब शांत हाेगा, कुछ भी स्मरण रखना भी आसान हाेगा। मन शांत रहने से स्मरण शक्ति अतितीव्र हाे जाती हैं।

  1. मन के विचारों की शक्ति,
  2. कैसे मन के विचारों काे नियंत्रण में करें,
  3. मन के अंदर चलने वाले विचारों काे कैसे पढ़ें,

अब बहुत जल्द प्रकाशित हाेने वाला है…..

कृष्ण मोहन सिंह(Krishna Mohan Singh) द्वारा लिखित किताब,, 

“तू ना हो निराश कभी मन से” 

“मन के विचारों और शक्तियाें” पर लिखी गई एक अनमाेल ग्रंथ,, 

मन काे कैसे नियंत्रण में करें।

मन के विचारों काे कैसे नियंत्रित करें॥

विचारों के प्रकार-एक खुशी जीवन के लिए।

अपनी सोच काे हमेशा सकारात्मक कैसे रखें॥

“मन के बहुत सारे सवालाें का जवाब-आैर मन काे कैसे नियंत्रित कर उसे सहीं तरिके से संचालित कर शांतिमय जीवन जियें”

Thoughts: “तू ना हो निराश कभी मन से” किताब से,,

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

More quotes visit at kmsraj51 copy

 

kmsraj51 की कलम से …..

Coming soon book (जल्द ही आ रहा किताब)…..

“तू ना हो निराश कभी मन से”

CYMT-KMSRAJ51

“अपने लक्ष्य को इतना महान बना दो, की व्यर्थ के लीये समय ही ना बचे” -Kmsraj51 

खुद को साबित करने के लिए मौका मिलने के आप हकदार हैं। सफलता की नींव आप खुद हैं। 

दूसरे क्या सोच रहे हैं, इस बारे में अनुमान लगाते रहना नकारात्मक सोच की निशानी है।

 

 

_______Copyright © 2014 kmsraj51.com All Rights Reserved.________

क्या बनेंगे ये ?

Kmsraj51 की कलम से…..

Kmsraj51-CYMT08

Kya Banenge Ye क्या बनेंगे ये

क्या बनेंगे ये ?

यूनिवर्सिटी के एक प्रोफ़ेसर ने अपने विद्यार्थियों को एक एसाइनमेंट दिया।  विषय था मुंबई की धारावी झोपड़पट्टी में रहते 10 से 13 साल की उम्र के लड़कों के बारे में अध्यन करना और उनके घर की तथा सामाजिक परिस्थितियों की समीक्षा करके भविष्य में वे क्या बनेंगे, इसका अनुमान निकालना।

कॉलेज विद्यार्थी काम में लग गए।  झोपड़पट्टी के 200 बच्चो के घर की पृष्ठभूमिका, मा-बाप की परिस्थिति, वहाँ के लोगों की जीवनशैली और शैक्षणिक स्तर, शराब तथा नशीले पदार्थो के सेवन , ऐसे कई सारे पॉइंट्स पर विचार किया गया ।  तदुपरांत हर एक  लडके के विचार भी गंभीरतापूर्वक सुने तथा ‘नोट’ किये गए।

करीब करीब 1 साल लगा एसाइनमेंट पूरा होने में।  इसका निष्कर्ष ये  निकला कि उन लड़कों में से 95% बच्चे गुनाह के रास्ते पर चले जायेंगे और 90% बच्चे बड़े होकर किसी न किसी कारण से जेल जायेंगे।  केवल 5% बच्चे ही अच्छा जीवन जी पाएंगे।

बस, उस समय यह एसाइनमेंट तो पूरा हो गया , और बाद में यह बात का विस्मरण हो गया। 25 साल के बाद एक दुसरे प्रोफ़ेसर की नज़र इस अध्यन पर पड़ी , उसने अनुमान कितना सही निकला यह जानने के लिए 3-3 विद्यार्थियो की 5 टीम बनाई और उन्हें धारावी भेज दिया ।  200 में से कुछ का तो देहांत हो चुका था तो कुछ  दूसरी जगह चले गए थे।  फिर भी 180 लोगों से मिलना हुवा।  कॉलेज विद्यार्थियो ने जब 180 लोगों की जिंदगी की सही-सही जानकारी प्राप्त की तब वे आश्चर्यचकित हो गए।   पहले की गयी स्टडी के  विपरीत ही परिणाम दिखे।

उन में से केवल 4-5 ही सामान्य मारामारी में थोड़े समय के लिए जेल गए थे ! और बाकी सभी इज़्ज़त के साथ एक सामान्य ज़िन्दगी जी रहे थे। कुछ तो आर्थिक दृष्टि से बहुत अच्छी स्थिति में थे।

अध्यन कर रहे विद्यार्थियो तथा उनके प्रोफ़ेसर साहब को बहुत अचरज हुआ कि जहाँ का माहौल गुनाह की और ले जाने के लिए उपयुक्त था वहां लोग महेनत तथा ईमानदारी की जिंदगी पसंद करे, ऐसा कैसे संभव हुवा ?

सोच-विचार कर के विद्यार्थी पुनः उन 180 लोगों से मिले और उनसे ही ये जानें की कोशिश की।  तब उन लोगों में से हर एक ने कहा कि “शायद हम भी ग़लत रास्ते पर चले जाते, परन्तु हमारी एक टीचर के कारण हम सही रास्ते पर जीने लगे।  यदि बचपन में उन्होंने हमें सही-गलत का ज्ञान नहीं दिया होता तो शायद आज हम भी अपराध में लिप्त होते…. !”

विद्यार्थियो ने उस टीचर से मिलना तय किया।  वे स्कूल गए तो मालूम हुवा कि वे  तो सेवानिवृत हो चुकी हैं ।  फिर तलाश करते-करते वे उनके घर पहुंचे ।  उनसे सब बातें बताई और फिर पूछा कि “आपने उन लड़कों पर ऐसा कौन सा चमत्कार किया कि वे एक सभ्य नागरिक बन गए ?”

शिक्षिकाबहन ने सरलता और स्वाभाविक रीति से कहा : “चमत्कार ? अरे ! मुझे कोई चमत्कार-वमत्कार तो आता नहीं।  मैंने तो मेरे विद्यार्थियो को मेरी संतानों जैसा ही प्रेम किया।  बस ! इतना ही !” और वह ठहाका देकर जोर से हँस पड़ी।

मित्रों , प्रेम व स्नेह से पशु भी वश हो जाते है।  मधुर संगीत सुनाने से गौ भी अधिक दूध देने लगती है।  मधुर वाणी-व्यवहार से पराये भी अपने हो जाते है।  जो भी काम हम करे थोड़ा स्नेह-प्रेम और मधुरता की मात्रा उसमे मिला के करने लगे तो हमारी दुनिया जरुर सुन्दर होगी।  आपका दिन मंगलमय हो, ऐसी शुभभावना।  

Note:- Post inspired by- http://www.achhikhabar.com/

We are grateful to My dear Friend Mr. Gopal Mishra & AKC for sharing this very inspirational incident with Kmsraj51 readers. 

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

best hindi website-kmsraj51

“तू ना हो निराश कभी मन से”

प्रश्न :- दोस्त क्या है?\मित्र क्या है?

उत्तर :- “एक आत्मा जाे दाे शरीराें में निवास करती है”

सफलता कठोर मेहनत और खुद पर भरोसा करने से मिलती है।”

 

 

_______Copyright © 2014 kmsraj51.com All Rights Reserved.________

 

अंग्रेजी और हिंदी में मुरली…..

Kmsraj51 की कलम से…..

Kmsraj51-CYMT09

हिंदी मुरली (21-Sep-2014)

प्रात: मुरली ओम् शान्ति ’अव्यक्त-बापदादा“ रिवाइज: 19-12-78 मधुबन

रीयल्टी ही सबसे बड़ी रॉयल्टी है

वरदान:- मनमनाभव के मन्त्र द्वारा मन के बन्धन से छूटने वाले निर्बन्धन, ट्रस्टी भव
कोई भी बंधन ापिंजड़ा है। ापिंजड़े की मैना अब निर्बन्धन उड़ता पंछी बन गयी। अगर कोई तन का बंधन भी है तो भी मन उड़ता पंछी है क्योंकि मनमनाभव होने से मन के बन्धन छूट जाते हैं। प्रवृत्ति को सम्भालने का भी बन्धन नहीं। ट्रस्टी होकर सम्भालने वाले सदा निर्बन्धन रहते हैं। गृहस्थी माना बोझ, बोझ वाला कभी उड़ नहीं सकता। लेकिन ट्रस्टी हैं तो निर्बन्धन हैं और उड़ती कला से सेकण्ड में स्वीट होम पहुंच सकते हैं।

स्लोगन:- उदासी को अपनी दासी बना दो, उसे चेहरे पर आने न दो।

English Murli (21-Sep-2014)

Reality is the Greatest Royalty.

Question: Who can maintain permanent intoxication? What are the signs of those who have permanent intoxication?
Answer: Only those who are seated on BapDada’s heart-throne can have permanent intoxication. The place for the elevated confluence-aged souls is the Father’s heart-throne. You cannot find such a throne throughout the whole cycle. You will continue to receive the throne of the kingdom of the world or the kingdom of a state, but you will not find such a throne again. This is such an unlimited throne that, whether you are walking around, eating or sleeping, you are on the throne. Those children who are seated on the throne in this way have forgotten the old bodies and the bodily world and, while seeing, do not see anything.

Question: On the basis of which dharna can you remain constantly merged in the ocean of happiness?
Answer: Be introverted. Those who are introverted are always happy. Residents of Indore means those who are introverted and are constantly happy. The Father is the Ocean of Happiness and so the children would also remain merged in love in the ocean of happiness. The children of the Bestower of Happiness would also be bestowers of happiness, the ones who distribute the treasures of happiness to all souls. Whoever comes and with whatever loving feeling they come, they should have them fulfilled through you. So, become images that are complete and perfect. Just as nothing is lacking in the Father’s treasure-store, similarly, children would also be fully satisfied souls, the same as the Father.

Achcha. Om shanti.

Blessing: May you be a trustee who is free from bondage and with the mantra of manmanabhav, become free from any bondage of the mind.
Any type of bondage is a cage. A caged bird has now become a bondage free, flying bird. Even if there is any bondage of the body, the mind is a flying bird because, by your being manmanabhav, any bondages of the mind are broken. There is no bondage even in looking after matter. Those who look after everything as trustees are free from bondage. A householder means to have a burden and those who have a burden can never fly. If you are a trustee, you are free from bondage and you can reach your sweet home with your flying stage in a second.

Slogan: Make unhappiness your servant and do not let it show on your face.

आध्यात्मिक सेवा में ब्रह्मकुमारी,

In Spiritual Service Brahmakumari,

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.comपसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

CYMT-Beautiful Flower-kmsraj51

Copyright © 2014 kmsraj51.com All Rights Reserved.

 

अगर जीवन में सफल हाेना हैं, ताे कभी भी काेई भी कार्य करें ताे पुरें मन से करे।

जीवन में सफलता आपकाे देर से ही सही लेकिन सफलता आपकाे जरुर मिलेगी॥

 ~KMSRAJ51

 

_______Copyright © 2014 kmsraj51.com All Rights Reserved.________

हिंदी शायरी ..ठोकर ना लगा मुझे पत्थर नही हु मै,

Kmsraj51 की कलम से…..

Kmsraj51-CYMT-Oct-14-3

ठोकर ना लगा मुझे पत्थर नही हु मै,

हैरत से ना देख कोई मंज़र नै हु मै,

उनकी नज़र में मेरी कदर कुछ भी नही,

मगर उनसे पूछो जिन्हें हासिल नही हु मै..

______

– Jokes –

1. लड़के और लड़की में फर्क –

लड़कियां 300 रुपये की एक सैंडल खरीद के लाएंगी और पूरे घर मे कहती फिरेंगी कि शॉपिंग करके आ रही हूं।

और लड़के हजार रुपये की दारू पीकर आते हैं, फिर भी चुप-चाप सो जाते हैं।

सादा जीवन, उच्च विचार।

2. जवानी के दर्द –

जवानी उम्र ही ऐसी होती है कि…

मोहल्ले की किसी भी लड़की की शादी हो जाए तो…

लगता है कि मेरे साथ धोखा हो गया…!!

3. किस गांव के हो ताऊ?

एक बस में ताऊ सफर कर रहे थे। तभी साथ वाले मुसाफिर ने बीड़ी जलाई और धुंआ ताऊ की ओर छोड़ दिया। ताऊ कुछ नहीं बोले। अचानक खिड़की से आई तेज हवा के कारण बीड़ी से एक चिंगारी निकली और ताऊ की नई कमीज जल गई। ताऊ फिर भी शांत रहे।

यह सब देख रहे मुसाफिर को शर्म आ गई और सोचा, कितना सब्र वाला नेक इंसान है। माफी मांगने के अंदाज में मुसाफिर ने पूछा, किस गावं के हो ताऊ?

ताऊ: क्यूं? अब गांव भी फूंकेगा के?

4. बगैर देखे साइन –

पप्पू: पापा, क्या आप बिना देखे लिख सकते हैं?

पापा: हां, इसमें कौन-सी बड़ी बात है?

पप्पू: अच्छा, तो मेरे रिपोर्ट कार्ड पर बिना देखे साइन करके दिखाइए।

5. बीवी की विश पूरी कर दो भगवान –

पति- इस जीवन से मैं तंग आ गया हूं! हे प्रभु मुझे उठा ले।पत्‍‌नी- नहीं भगवान, मेरे पति से पहले मुझे उठा ले।पति- हे प्रभु, मैं अब अपनी मर्जी को वापिस लेता हूं, तू इसकी ही सुन ले।

6. अजी सुनते तो… 
सत्य वचन
शादीशुदा मर्दों के लिए ‘अजी सुनते हो…’ का वही मतलब होता है जो बिग बॉस के घर में रहने वालों के लिए ‘बिग बॉस चाहते हैं…’ का होता है।
7. डाबर का कालाधन –
स्विस बैंकों में डाबर वालों का भी काला धन है .
.
.
.
.वहीं मैं कहूं…च्यवनप्राश में डालने के लिए इतना सोना-चांदी आ कहां से रहा है।

8. वाइबर या वाइपर –
लड़का: Viber यूज करती हो…?लड़की: उफ, ये अनपढ़ लड़के भी न। बुद्धू Viber नहीं, Viper होता है… और मैं कभी-कभी यूज करती हूं जब पानी ज्यादा हो, वरना पोछा ही लगाती हूं।लड़का: हा हा हा हा हा हा हा हा हा। बस कर पगली रुलाएगी क्या…?

9. अच्छे दोस्त की तलाश –
मैंने एक दिन मंदिर की दानपेटी में एक सिक्का डालकर भगवान से एक अच्छा दोस्त मांगा।
.
.
.
.
.
तब भगवान तुम्हें मेरी जिंदगी में भेजा और बोले- एक रुपये में ऐसा ही मिलेगा।
10. बीवी और भूत –
सवाल: अगर आपकी पत्नी से भूत चिपक जाए तो आप क्या करेंगे।पति का जवाब: करना क्या है, गलती उसने की है अब वही भुगते।
11. बदनामी का सबूत –
दिवाली पर पता चला हम अपने मुहल्ले में कितने बदनाम हैं
.
.
.
जब गली के सारे बच्चे एक-एक कर घर आए और रॉकेट जलाने के लिए खाली बोतल मांगने लगे।
12. गर्लफ्रेंड का फोन उठाया –
एक दोस्त – नया मोबाइल कब लिया?

पप्पू – लिया नहीं, गर्लफ्रेंड का उठाया है।
.
.
.
दोस्त – क्यों???
.
.
.
पप्पू – वो रोज कहती थी, मेरा फोन क्यों नहीं उठाते… 🙂

13. दिवाली पर ये न करें… 
भारत के सभी नौजवानों को सूचित किया जाता है कि इस दिवाली पर एक ही तीली से 5-6 दीये न जलाएं। .
.
.
.
पिताजी का शक यकीन में बदल सकता है कि लड़का सिगरेट पीने लगा है।
14. शादी की रस्म –
एक बच्चे ने पिता से एक शादी समारोह में पूछा- पापा, शादी के मंडप में दूल्हा, दुल्हन का हाथ क्यों पकड़ता है?

पिता ने लंबी सांस भरते हुए कहा- बेटा यह तो एक रस्म है। कुश्ती से पहले पहलवान भी अखाड़े में हाथ मिलाते हैं।

15. कानून की सेल्फी –
‘कानून’ बेस्ट सेल्फी क्लिक कर सकता है, क्योंकि…

कानून के हाथ बहुत लम्बे होते हैं।

16. रितिक जैसा पति –
कल रात मेरी बीवी ने मुझसे कहा कि तुम तो एक दम रितिक रोशन जैसे लगते हो।

मैंने साफ-साफ बोल दिया कि मेरे पास सिर्फ 400 रुपये हैं।

17. कुछ बात करनी है –
भगवान कसम, सारे पाप याद आ जाते हैं, जब…

घरवाले कहते हैं- बैठो, तुमसे कुछ बात करनी है।

18. अर्ज किया है –
अर्ज किया है…

एक लड़के और लड़की में हो रही थी किसिंग,

मुकर्रर!

एक लड़के और लड़की में हो रही थी किसिंग,

पर आप अभी छोटे हो, इसलिए…

19. लड़का लाया चांद!
लड़की: क्या तुम मेरे लिए चांद ला सकते हो?

लड़का गया और हाथ में आइना छिपाकर ले आया। उसने लड़की से आंखें बंद करने को कहा, और आइने को लड़की के हाथ पर रख दिया।

लड़का: अब आंख खोलो।

लड़की (इमोशनल होते हुए): How Romantic! तुम्हें मेरा चेहरा चांद जैसा लगता है?

लड़का: नहीं, मैंने तो आइना इसलिए रखा था, ताकि तू देख सके कि जिस थोबड़े से चांद मांग रही है, उसे कभी आइने में देखा भी है?

20. पेट में छूटे ग्लव्स –
डॉक्टर: वी आर सॉरी। ऑपरेशन के वक्त मेरे ग्लव्स आपके पेट में रह गए। दोबारा ऑपरेशन करना पड़ेगा।
.
.
.
पप्पू: पागल है क्या? ये ले 20 रुपये, नया ले लियो भाई…
21. इमरजेंसी में मजाक –
हम बिजली जाने के बाद मोमबत्ती लेकर टॉइलट जा रहे थे।

कोई कंबख्त फूंक मारकर कह गया- हैपी बर्थडे टु यू!

अब बताओ… इमरजेंसी में भी मजाक!!

22. संता बना भगवान –
संता काफी दिनों के बाद पार्क में घूमने गया। लौटकर उसने अपनी पत्नी से कहा, जानती हो, आजकल लोग मुझे भगवान मानने लगे हैं!

पत्नी: तुम्हें कैसे पता?

संता: आज जब मैं पार्क में घूमने गया तो लोग मुझे देखकर बोले- हे भगवान, तुम फिर आ गए!

23. पत्नी के 2 नंबर –
अगर आपकी पत्नी 2 सिम कार्ड वाला फोन यूज करती है तो केवल ‘वाइफ’ नाम से ही सेव करें। वाइफ-1 और वाइफ-2 नाम से कभी न सेव करें।

आईसीयू में भर्ती एक पति की सलाह- पतिहित में जारी।

24. गर्लफ्रेंड चली अमेरिका –
गर्लफ्रेंड: जानू, मुझे भूल जाओ। मेरी शादी अमेरिका में एक अमीर लड़के से तय हो गई है।

बॉयफ्रेंड: चलो कोई बात नहीं, जो होना था सो हो गया। बस तुम एक आईफोन 6 भेज देना वहां से। सुना है वहां सस्ता मिलता है।

25. लाइन मारने के तरीके –
लाइन मारने के बहुत से तरीके होते हैं। इनमें से 3 बेस्ट तरीके हैं…

1. पेंसिल से लाइन मारना
2. पेन से लाइन मारना
3. मार्कर से लाइन मारना

अच्छा सोचो! कुछ लोग शरीफ भी होते हैं।

26. पति ने की तारीफ –
पति: तुम बहुत हसीन हो।

पत्नी: छोड़िए ना।

पति: तुम्हारी आंखें बहुत खूबसूरत हैं।

पत्नी: छोड़िए ना।

पति: तुम्हारे बाल बिल्कुल रेशम जैसे हैं।

पत्नी: अजी छोड़िए भी।

पति: तुम्हारी आवाज कितनी सुरीली है।

पत्नी: हे भगवान! अब छोड़ भी दीजिए।

पति: इतनी लंबी-लंबी तो छोड़ रहा हूं अब और कितनी छोड़ूं?

27. बुद्धिमत्ता की इकाई –
वैज्ञानिकों ने बुद्धिमत्ता मापने की नई इकाई का पता लगाया है, जिसका नाम है भट्ट इकाई।

इसके अधिकतम स्तर को आर्य भट्ट का नाम दिया गया है, और न्यूनतम स्तर को आलिया भट्ट का 🙂

28. 3 रुपये का हिसाब –
एक करोड़पति मर गया, और ऊपर पहुंचकर स्वर्ग का दरवाजा खटखटाने लगा।

चित्रगुप्त: कौन हो तुम?

आत्मा: मैं धरती पर करोड़पति था। मुझे स्वर्ग में प्रवेश चाहिए।

चित्रगुप्त: स्वर्ग में रहने लायक तुमने कौन सा काम किया है?

आत्मा: एक बार मैंने भूखी भिखारिन को 2 रुपये दिए थे। (कुछ सोचकर) और एक बार मेरी कार से टकराकर घायल हुए एक बच्चे को एक रुपया दिया था।

चित्रगुप्त: और कुछ किया?

आत्मा: और कुछ तो याद नहीं आता।

चित्रगुप्त (यमराज से): भाई, क्या करें इसका?

यमराज: इसके तीन रुपये लौटा दो, इसे नरक ले जाता हूं।

29. ‘जय दुर्गा’ के बाद?
9 दिन तक,

जय दुर्गा!

जय दुर्गा!

जय दुर्गा!

और 10वें दिन,

दे मुर्गा!

दे मुर्गा!

दे मुर्गा!

30. पत्नी ने उठाया –
पति-पत्नी में बातचीत बंद थी। सुबह पति को जल्दी जाना था, तो उसने रात को पत्नी के तकिए के पास एक पर्ची रख दी, जिसपर लिखा था- मुझे सुबह 5 बजे उठा देना।

सुबह 8 बजे जब पति की नींद खुली तो उसके ऊपर ढेर सारी पर्चियां पड़ी हुई थीं, जिनपर लिखा था- उठ जाओ, 5 बज गए हैं। प्लीज उठ जाओ, नहीं तो लेट हो जाओगे।

31. कृपया ध्यान दें –
अपनी बीवी के डर से खुद के घर में किया गया झाड़ू-पोछा ‘स्वच्छ भारत अभियान’ में शामिल नहीं किया जाएगा।
32. वह बेचारी लड़की –
वह लड़की आज भी गर्मी में मर रही है।
जिसे एक बार बोला था
.
.
.
तुम इस स्वेटर में कटरीना लगती हो।
33. दिल की धड़कन –
किसी की धड़कन तेज़ करने के लिए प्यार की जरूरत नहीं, बस इतना ही कह दो कि . . . भाई तेरा रिजल्ट आ गया है। चेक कर।
34. भोजपुरी में अनुवाद –
अध्यापक: भोजपुरी में अनुवाद करो।

दिल के टुकड़े-टुकड़े करके मुस्कुरा के चल दिए…

छात्र: करेजवा के बुकनी-बुकनी कर के दांत चियार के चल देहलू…

35. मंगल का ताना –
अब से घरवालो को नया ताना मारने का मौका मिल जाएगा . . कि उठ जा बेटा दुनिया मंगल पर पहुंच गई और तू अभी यहीं पड़ा है।
36. पत्थर मार लो –
दोस्तों को मैसेज करने से बेहतर है कि किसी कुत्ते को पत्थर मार लो। .
कम से कम जवाब तो देता है।
37. रजनीकांत vs आलिया –
एक कॉम्पिटिशन में दोनों से एक सवाल पूछा गया कि 8 का आधा कितना होगा? रजनी ने सवाल सुनने से पहले ही कहा: 4

आलिया: डिपेंड करता है
यदि हॉरिजॉन्टल हाफ करो तो ‘0‘ और वर्टिकल करो तो ‘3

रजनीकांत लॉस्ट आलिया रॉक्स

बड़ा आया रजनीकांत!

38. पियक्कड़ों का संतोष –
पियक्कड़ बड़े संतोषी किस्म के प्राणी होते हैं। दारू के दाम कितने भी बढ़ जाएं, वे कभी विरोध प्रदर्शन नहीं करते।
39. पति को अंदर बुला लो –
लेडी पेशंट: डॉक्टर, प्लीज मेरे पति को अंदर बुला लीजिए।

डॉक्टर: आप मेरे साथ सुरक्षित हैं। आप मुझपर भरोसा कर सकती हैं।

ले़डी पेशंट: नहीं, आपकी नर्स बाहर बैठी है, और मुझे अपने पति पर भरोसा नहीं है।

40. सुखी पति के गुण –
सभी सुखी पति गजनी के आमिर खान की तरह होते हैं।

बीवी की सुनते हैं,
समझते हैं,
और
15 मिनट के बाद सब भूल जाते हैं…

41. यू आर सो हॉट –
लड़के ने लड़की का हाथ पकड़कर कहा: यू आर सो हॉट, बेबी!

लड़की ने खींचकर उसे एक थप्पड़ मारा और कहा: कमीने, मुझे 103 डिग्री बुखार है और तुझे आशिकी सूझ रही है?

42. ट्रेन में बर्फ की कमी –
एक दबंग आदमी ट्रेन के एसी कोच में आराम से ड्रिंक कर रहा था। उसने अटेंडेंट को बुलाकर 100 रुपये का नोट देते हुए कहा: जा जल्दी से थोड़ा बर्फ और ले आ। आखिरी पैग लगाना है।

अटेंडेंट: साहब, अब और बर्फ नहीं मिल सकता।

दबंग आदमी: क्यों नहीं मिल सकता?

अटेंडेंट: साहब, डिसूजा साहब की डेड बॉडी तो पिछले स्टेशन पर ही उतर गई।

43. एक गाने में जिंदगी – 
एक गाने ने पूरी जिंदगी बयां कर दी-

5-15 साल: नैनों में सपना 15-25 साल: सपनों में सजना 25-35 साल: सजना पे दिल आ गया 35-75 साल: क्यूं सजना पे दिल आ गया???

44. फोन करने से पहले दो लगाएं –
संता पीसीओ पर फोन करने गया, फिर अचानक उसने पीसीओ वाले को दो थप्पड़ लगा दिए।

पीसीओ वालाः ये थप्पड़ क्यों लगाए?

संताः अबे उधर देख, वहां लिखा है फोन करने से पहले दो लगाएं।

45. पप्पू ‘जवान’, कैप्टन परेशान –
मिलिटरी का कैप्टनः नौजवानों, आगे बढ़ो

(पप्पू आगे नहीं बढ़ा)

कैप्टनः तुम आगे क्यों नहीं बढ़े?

पप्पूः आपने कहा 9 जवानों आगे बढ़ो, मैं 10वें नंबर पर खड़ा हूं…

46. दोस्त को किया फोन –
एक दोस्त को 3 बार कॉल किया। उसने फोन नहीं उठाया।

मैंने उसे एसएमएस किया- शाम को दारू पार्टी कर है, तू आएगा क्या?

अब वह मुझे 8 बार कॉल कर चुका है, और मैं फोन नहीं उठा रहा 🙂

47. डेटॉल की शीशी –
संता हाथ में ब्लेड मार रहा था।

बीवी: यह क्या कर रहे हो जी?

संता: डेटॉल की शीशी टूट गई है। यह बेकार हो जाए, उससे पहले ही यूज कर लेना चाहिए। ला, तेरी अंगुली भी काट दूं।

48. तीन गुप्त बातें –
जिंदगी में तीन बातें कभी किसी को नहीं बतानी चाहिए।

1)

2)

3)

नहीं बतानी, मतलब नहीं बतानी। किसी को भी नहीं।

49. महंगा पड़ा सपना –
शिक्षकः ओसामा की 5 बीवी हैं और 20 बच्चे, और लालू की एक बीवी और 12 बच्चे तो बताओ दोनों में से बेहतर कौन है?

संताः सर, स्कोर तो ओसामा का ज्यादा है पर स्ट्राइक रेट लालू की बेहतर है।

50. कितने भाई-बहन हो?
लड़के वाले एक लड़की को देखने पहुंचे। बातचीत के बाद घरवालों ने लड़के और लड़की को एक कमरे में अकेले बिठा दिया।

काफी देर की खामोशी के बाद लड़की ने ही डरते-डरते पूछा: भैया, आप कितने भाई-बहन हो?

लड़का: अब तक तो 3 थे, अब 4 हो गए।

51. सबसे प्यारा मेसेज –
लोग कहते हैं कि I LOVE YOU दुनिया का सबसे प्यारा मेसेज है।

लेकिन,

‘आ भाई, पेमेंट ले जा’

इस मेसेज जैसा दूसरा कोई मेसेज नहीं है।

______

बिल गेट्स ने बनाई मूवीज…

यदि बिल गेट्स बॉलीवुड फिल्में बनाने लगें तो उनकी फिल्मों के नाम कैसे होंगे ?

जरा इन नामों पर गौर फरमाएं –

1. हैंग तो होना ही था !!!!!!!!!!!!

2. मेरी डिस्क तुम्हारे पास है

3. आओ चेट करे
4. प्रोग्रामर नंबर.15. मेरा नाम डवलपर6. जावा वाले जॉब ले जायेंगे
7. हम आपके मेमोरी में रहते हैं
8. दो प्रोसेस्सर बारह टर्मिनल
9. तेरा कोड चल गया
10. हर दिन जो मेल करेगा
11. नेटवर्क के उस पार
12. देबुगिंग कोई खेल नहीं
13. जिश देश में बिल गेट्स रहता है14. राजू बन गया MCSE .!15. कलाइएंट  एक नम्बरी प्रोग्रामर  दस नम्बरी16. लोगिन करो सजना
17. नौकर PC का
18. 1942 — ऐ  बग स्टोरी
19. कहो ना वाइरस है
20. क्रेश से क्रेश तक

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

cymt-kmsraj51

सफलता कठोर मेहनत और खुद पर भरोसा करने से मिलती है।

यह गिफ्ट में या धनी परिवार में पैदा होने से नहीं मिलती है।

-Kmsraj51

– कुछ उपयोगी पोस्ट सफल जीवन से संबंधित –

* विचारों की शक्ति-(The Power of Thoughts)

http://wp.me/p3gkW6-1dk

* खुश रहने के तरीके हिन्दी में।

http://wp.me/p3gkW6-mn

* अपनी खुद की किस्मत बनाओ।

http://wp.me/p3gkW6-1dD

* सकारात्‍मक सोच है जीवन का सक्‍सेस मंत्र 

http://wp.me/p3gkW6-Ig

* चांदी की छड़ी।

http://wp.me/p3gkW6-1ep

 

 

_______Copyright © 2014 kmsraj51.com All Rights Reserved.________