Some-Full-Forms of Information Technology !!

kmsraj51 की कलम से…..
anniversary-1x

-A Message To All-

मत करो हतोत्साहित अपने शब्दों से ……आने वाली नयी पीढ़ी को ,
वो भी करेंगे कुछ ऐसा एक दिन…. जिसे देखेगा ज़माना ….पकड़ती हुई नयी सीढ़ी को ॥


**************************************

सूचना प्रौद्योगिकी के कुछ पूर्ण प्रपत्र

LLC – Logical Link Control

DIX – Digital, Intel and Xerox

CSMA/CD – Carrier Sense Multiple Access/Collision Detection

MAU – Medium Attachment Unit

UTP – Unshielded Twisted Pair

STP – Shielded Twisted Pair

FOIRL – Fiber Optic Inter-Repeater Link

MMF – Multimode Fiber

SMF – Single Mode Fiber

MTRJ – Mechanical Transfer Registered Jack

SFF – Small Form Factor

NRZ – Non Return to Zero

LC – Local Connector

ift

MSAU – Multi Station Access Unit

UDC – Universal Data Connector

IDC – IBM-type Data Connector

FDDI – Fiber Distributed Data Interface

ANSI – American National Standards Institute

NIC – Network Interface Card/Connector

LAN – Local Area Network

VLANs – Virtual Local Area Networks

MAN – Metropolitan Area Network

WAN – Wide Area Network

SAN – Storage Area Network

CAN – Campus Area Network

BAN – Branch Area Network

PAN – Personalized Area Network

SoAN – Solaris Area Network (This Network Using Setellite).

PING – Packet Internet Gopher

NetBIOS – Network Basic Input/output System

NetBEUI – NetBIOS Extended User Interface

MAC – Media Access Control

ICMP – Internet Control Message Protocol

ARP – Address Resolution Protocol

RARP – Reverse Address Resolution Protocol

TFTP – Trivial File Transfer Protocol

FTP – File Transfer Protocol

IGP – Interior Gateway Protocol

EGP – Exterior Gateway Protocol

BGP – Border Gateway Protocol

OSPF – Open Shortest Path First

SLIP – Serial Line Internet Protocol

OSI – Open Systems Interconnection

MTU – Maximum Transmission Unit

NFB – Number of Fragment Blocks

RD – Reported Distance

FD – Feasibility Distance

FC – Feasibility Condition

IKE – Internet Key Exchange

ESP – Encapsulating Security Payload

ISO – International Organization for Standardization

ATM – Asynchonous Transfer Mode

ASICs – Application-Specific Integrated Circuits

VRRP – Virtual Router Redundancy Protocol

APIPA – Automatic Private Internet Protocol Addressing

DHCP – Dynamic Host Configuration Protocol

DNS – Domain Name System/Service, or Server

IP – Internet Protocol

TCP – Transmission Control Protocol

UDP – User Datagram Protocol

FTP – File Transfer Protocol

SFTP – Secure File Transfer Protocol

TFTP – Trivial File Transfer Protocol

SMTP – Simple Mail Transfer Protocol

HTTP – Hyper Text Transfer Protocol

HTTPS – Hyper Text Transfer Protocol Secure

POP3/IMAP4 – Post Office Protocol Version 3/ Internet Message Access

IT-3

Protocol Version 4

Telnet – TELNET

SSH – Secure Shell

ICMP – Internet Control Message Protocol

ARP – Address Resolution Protocol

RARP – Reserve Address Resolution Protocol

NTP – Network Time Protocol

NNTP – Network News Transport Protocol

SCP – Secure Copy Protocol

LDAP – Lightweight Directory Access Protocol

IGMP – Internet Group Multicast Protocol

LPR – Line Printer Remote

WINS – Windows Internet Naming System

NMS – Network Management System

MIB – Management Information Base

SMB – Server Messenger Block

CIFS – Common Internet File System

AFP – Apple Filing Protocol

NFS – Network File System

NCP – Netware Core Protocol

SAN – Storage Area Network

ISDN – Integrated Services Digital Network

PSTN – Public Switched Telephone Network

CIR – Committed Information Rate

MAC – Medium Access Control

AD – Active Directory

DC – Domain Controller

ADC – Additional Domain Controller

CDC – Child Domain Controller

NVT – Network Virtual Terminal

LLC – Logical Link Control

MAC – Media Access Control

DQDB – Distributed Queue Dual Bus

PAD – Packet Assembler Disassembler

PDU – Protocol Data Unit

DSAP – Destination Service Access Point

SSAP – Source Service Access Point

I-Frame – Information Frame

S-Frame – Supervisory Frame

U-Frame – Unnumbered Frame

ERD – Emergency Repair Disk

ASR – Automated System Recovery

CIDR – Classless Inter-Domain Routing

JFFNMS – Just For Fun Network Monitoring System

NMPs – Network Monitoring Platforms

NBMA – Non-Broadcast Multi-Access

RAS – Remote Access Services

PPP – Point-to-Point Protocol

SLIP – Serial Line Internet Protocol

PPPoE – Point-to-Point Protocol over Ethernet

PPTN – Point-to-Point Tunneling Protocol

VPN – Virtual Private Network

RDP – Remote Desktop Protocol

IT-1

________________________________________
________________________________________
IPSec – Internet Protocol Security

L2TP – Layer 2 Tunneling Protocol

SSL – Secure Sockets Layer

PAP – Password Authentication Protocol

CHAP – Challenge Handshake Authentication Protocol

EAP – Extensible Authentication Protocol

RADIUS – Remote Authentication Dial-In User Service

KDC – Key Distribution Center
_______________________________________________
_______________________________________________
xDSL – Digital Subscriber Line

Broadband Cable (cable modem)

POTS/PSTN – Plain Old Telephone Service / Public Switched Telephone Network
______________________________________________
______________________________________________
ICS – Internet Connection Sharing

CMTS – Cable Modem Termination System

WAP – Wireless Access Point

WEP – Wired Equivalent Privacy

WPA – Wi-Fi Protected Access

RFI – Radio Frequency Interference

AES – Advanced Encryption Standards

IrDA – Infrared Data Association

FHSS – Frequency Hopping Spread Spectrum

IPX/SPX – Internetwork Packet Exchange / Sequence Packet Exchange
NSA – National Security Agency
———————–

SE-Linux – Security Enhanced Linux

UPS – Uninterruptible Power Supply

RAID – Redundant Array of Inexpensive(or Independent Disks)
___________________________________________________
___________________________________________________

Note::-
यदि आपके पास Hindi में कोई article, inspirational story, Poetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है::- kmsraj51@yahoo.in . पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

((((((((((~)))))))))) https://kmsraj51.wordpress.com/ ((((((((((~))))))))))

Advertisements

10 गुना इंटरनेट स्पीड देगा गूगल का नया डाटा सेंटर ~ Google’s new data center offers internet speeds 10 times !!

::- Krishna Mohan Singh(kmsraj51) …..

kmsraj51 की कलम से …..
pen-kms

** 10 गुना इंटरनेट स्पीड देगा गूगल का नया डाटा सेंटर!! **


ggl

इंटरनेट की दुनिया की सबसे मशहूर कंपनी गूगल ने हाल ही में एशिया में अपने दो नए डाटा सेंटर खोले हैं। टैक्नोलॉजी की दुनिया भर के बाजारों में बढ़ती मांग को देखते हुए कंपनी ने ये कदम उठाया है। एक डाटा सेंटर काउंटी ताइवान और दूसरा जुरोंग वेस्ट, सिंगापुर में खोला गया है। कंपनी ने इन दोनों सेंटर को तैयार करने में कुल मिलाकर 2440 करोड़ रुपए खर्च किए हैं। इन डाटा सेंटरों की मदद से अब इंटरनेट डाटा ट्रैफिक के लोड को कम किया जा सकेगा। इसके साथ ही गूगल अपने यूजर्स को अब और भी ज्यादा डाटा मुहैया करा सकेगा और इंटरनेट पर सर्च करना 10 गुना तक फास्ट और आसान हो जाएगा।

kms-google
रिपोर्ट के मुताबिक ताइवान, हांगकांग और सिंगापुर जैसे देश टेक कंपनियों के संचालन के लिए उपयुक्त स्थान माने जाते हैं। इन देशों में डाटा सेंटर का संचालन करने के लिए अच्छे कानून, मजबूत बिजली व्यवस्था, कुशल कर्मचारी और फाइबर ब्रॉडबैंड जैसी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध हैं।


google-kms
डा़टा सेंटर एक ऐसी जगह होती है, जहां ढेर सारे कंप्यूटर लगे होते हैं। इन कंप्यूटरों में दुनिया भर के जरूरी डाटा स्टोर किए जाते हैं, जिसकी मदद से दुनिया के कोने-कोने में इंटरनेट यूजर्स को डाटा मुहैया कराया जाता है। इंटरनेट पर मिलने वाली सभी जानकारियां इन्हीं डाटा सेंटरों से आती हैं।

4
गूगल की स्थापना 1998 में लैरी पेज और सेर्गे ब्रिन ने की थी। आज 15 साल बाद कंपनी की कुल संपत्ति 5,80,415 करोड़ रुपए हो चुकि है। अब गूगल अपने बिजनेस को बढ़ाते हुए ताइवान के डाटा सेंटर के संचालन के लिए 3712 करोड़ रुपए निवेश कर रही है। इसकी मदद से दुनिया भर में बढ़ रही टैक्नोलॉजी की जरूरतों को पूरा किया जा सकेगा।


5
लगभग 3,10,503 करोड़ रुपए की सालाना (2012) रेवेन्यू वाली कंपनी का ताइवान का ये डाटा सेंटर काफी प्रभावशाली है और पर्यावरण के अनुकूल बनाया गया है।


6
इस डाटा सेंटर को रात के समय कंपनी के अंदर के वातावरण को ठंडा रखने और थर्मल ऊर्जा स्टोर करने के लिहाज से बनाया गया है।

7
आमतौर पर डाटा सेंटर का वातावरण ठंडा होना चाहिए क्योंकि कंप्यूटरों से निकलने वाली गर्मी सिस्टम को क्षति पहुंचा सकती है। गूगल के मुताबिक, इस कंपनी का कूलिंग सिस्टम इंसुलेटेड टैंक्स के जरिए चलाया जाता है।

8
इस डाटा सेंटर में कुल 60 लोगों की टीम के साथ कुछ फुल और पार्ट टाइम कांट्रेक्टर 24 घंटे साइट को चलाते हैं, जिसमें से कुछ इलेक्ट्रिकल इंजीनियर्स, मैकेनिकल इंजीनियर्स, कंप्यूटर तकनीशियन और कैटरर भी शामिल हैं।

9
एशिया में 2014 तक मोबाइल डाटा ट्रेफिक 68 प्रतिशत तक बढ़ने का अंदेशा है। ये डाटा सेंटर इस ट्रेफिक को नियंत्रित करने में काफी सहयोग करेगी।

10
कंपनी के उपाध्यक्ष डाटा सेंटर में सुरक्षा द्वारों की जांच करते हुए।

11
दुनिया के सबसे बेहतरीन सर्वर के एक कंप्यूटर के गर्म हो जाने के बाद गूगल की कर्मचारी उसकी जांच करती हुईं।

12
कंप्यूटर के खराब मदरबोर्ड की मरम्मत करता हुआ गूगल का कर्मचारी। इस डाटा सेंटर में खराब होने के बाद पुर्जों की पहले मरम्मत की जाती है अगर वो ठीक न हो सकें तो फिर उन्हें तोड़कर रिसाइकिल के लिए दे दिया जाता है।

13
जेनरेटर की मरम्मत करते गूगल के तकनीशियन।

14
डाटा सेंटर को ठंडा रखने वाले पाइप लाइन की जांच करता गूगल कर्मचारी।

15
बैटरी की जांच करते हुए गूगल कर्मचारी। समय-समय पर बैटरियों की जांच की जाती है की वो ठीक से चार्ज हो रहे हैं या नहीं।

16
इस डाटा सेंटर में नए जमाने के लिहाज से बनाए गए अति आधुनिक सर्वर देखे जा सकते हैं।

::- Krishna Mohan Singh(kmsraj51) …..
kms1006

Note::-
यदि आपके पास Hindi में कोई article, inspirational story, Poetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है::- kmsraj51@yahoo.in . पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

@@@@@ ::- Krishna Mohan Singh(kmsraj51) ….. @@@@@