सफेद दाग का उपचार।

Kmsraj51 की कलम से…..

CYMT-KMSRAJ51-KMS

ϒ सफेद दाग का उपचार। ϒ

सफेद दाग काे Curing Vitiligo (श्वेतदाग) के नाम से भी जाना जाता हैं। जिसका मतलब है सफेद (leuco) और चर्म या त्वचा (Derma). इसकाे “Achromia” के नाम से भी जाना जाता हैं। इसका मतलब है सामान्य रंग अथवा वर्णकयुक्तता की कमी अथवा उसका अभाव, जैसे त्वचा की वर्णहीनता, अवर्णता। इस बीमारी में चमड़ी के सामान्य रंग में फर्क आ जाता है आैर वह सफेद हाे जाती हैं।

सफेद दाग एक त्वचा रोग है। हमारे भारत में कई लाेग इस राेग काे कुष्ठ(Leprosy) रोग का नाम देकर हमारे मन में इस राेग के लिए कुठां पैदा कर दी हैं। पुरे विश्व में 1.5 – 2.5% लाेग इस राेग से प्रभावित हैं। लेकिन भारत में इस राेग से 09 – 11% लाेग प्रभावित है और इसके बाद मेक्सिको में पाएं जाते हैं।

इस रोग में त्वचा पर अलग-अलग अकार के सफेद दाग देखें जा सकते हैं। ये राेग किसी काे भी हाे सकता है, जैसे बच्चाें, महिलाओं और पुरुषाें काे। यह राेग किसी भी उम्र के व्यक्ति काे हाे सकता हैं। कई बार ये राेग वंशानुगत भी हाेता हैं। सफेद दाग का राेग ठिक हाे जाता है इसलिए आपकाे धैर्य रखने की जरूरत हैं।

अगर आप सफेद दाग के राेग काे दुर करना चाहते है ताे, आपकाे कुछ घरेलू उपचार के साथ, बहुत ही जरूरी बाताें का भी ध्यान रखना हाेगा।

इस राेग काे दुर करने के लिए कुछ सहज घरेलू उपचार।

1. विषाक्त पदार्थ काे बाहर निकाले। – शरीर से विषाक्त पदार्थ काे बाहर निकालने से ना राेके, जैसे- मल, मूत्र, पसीना।

2. ये चीजे ना खायें। – इस रोग में आपको मिठाई, रबड़ी, दूध और दही को एक साथ सेवन नहीं करना चाहिएं। इससे आपकी त्वचा पर बुरा असर पड़ सकता हैं। ताे ध्यान रखें, एेसी स्थिति में एेसे खाद्य पदार्थ से बचे।

3. गरिष्ठ(भारी) भोजन ना करे। – बहुत ज्यादा गरिष्ठ(भारी) भोजन का सेवन ना करें, इससे आपकाे तकलिफ हाे सकती हैं। जैसे- उड़द की दाल, मांस, मछली आदि का सेवन ना करें।

4. इन बातों का ख्याल रखें। – भोजन में खटाई, तेज मिर्च और गुड़ का सेवन ना करें।

5. ज्यादा नमक(Salt) ना खाए। – ज्यादा नमक खाना आपके लिए हानिकारक हाे सकता हैं। इसलिए खाने में ज्यादा नमक का प्रयोग ना करें। कम से कम नमक का सेवन करें और करें अपनी इस समस्या काे दुर।

6. बथुआ(Bathua) है फायदेमंद। – रोज बथुआ की सब्ज़ी खाये। इसकाे उबाल कर इसके पानी से ही सफेद दाग काे धाेये। कच्चे बथुआ का रस(Juice) दाे कप निकाल कर आधा कप तिल के तेल(Sesame oil) में मिलाकर धीमी आँच पर पकायें। जब सिर्फ तेल रह जाये इसे उतार कर शीशे के बोतल में भर लें। इस तेल काे प्रतिदिन ३-४ बार सफेद दाग पर लगाये।

7. अखरोट(Walnuts) खाये। – अखरोट में इतनी शक्ति है कि वह आपकी सफेद पड़ चुकी त्वचा काे भी काली कर सकता हैं। ५० ग्राम अखरोट का प्रतिदिन सेवन करे और देखें इससे आपकाे कितना फायदा हाेता हैं। 

8. लहसुन का रस(Garlic juice) – लहसुन का सेवन प्रतिदिन करें। इसके रस में हरड़ घिसकर सफेद दाग पर लेप करें, इससे आपके त्वचा के सफेद दाग मिट जायेगे और आपकाे इस राेग से छुटकारा मिल जायेगा। 

9. उड़द की दाल(Urad Dal) – उड़द की दाल काे पानी में ८ घंटे तक भीगाें दे। इस भीगी हुई दाल काे पीसकर सफेद दाग पर ४ महीने तक प्रतिदिन लगाये, इससे सफेद दाग मिट जायेगा।(याद रखें – प्रतिदिन उड़द की दाल काे पानी में ८ घंटे तक भीगाें कर, पीसकर लगाये).

10. नीम का उपयोग करें(Use Neem) – नीम की पत्ती, फूल और फल आदि काे सुखाकर, पीस कर चूर्ण बना ले और इसे एक डिब्बें में भर कर रख ले। प्रतिदिन २-३ ग्राम इस चूर्ण काे पानी के साथ लें।

मात्रा चूर्ण बनाने के लिये। – 

नीम की पत्ती – १०० ग्राम, नीम के फूल – ५० ग्राम, नीम के फल – १०० ग्राम,

11. क्या खायें – अपने खाने में कम से कम सप्ताह में दो दिन काले चने की चपाती(रोटी) खायें, और क्या-क्या खाये – मूंग की दाल, बथुआ, पालक, भिंडी, ककड़ी, गोभी, गाय के दूध, मक्खन और आसानी से पच जाने वाले भोजन ही खाये। ताजा फल व रस और पानी का खूब सेवन करें।

© कमलेश कुमार ® ID – kamleshk177@gmail.com

हम दिल से आभारी हैं कमलेश कुमार जी के। आपने https://kmsraj51.com के पाठकों के लिये सरल तरीके से घर का बना आयुर्वेदिक जड़ी बूटी द्वारा सफेद दाग का उपचार हिंदी में Share करने के लिये।

Please Share your comment`s.

© आप सभी का प्रिय दोस्त ®

Krishna Mohan Singh(KMS)
Head Editor, Founder & CEO
of,,  http://kmsraj51.com/

जैसे शरीर के लिए भोजन जरूरी है वैसे ही मस्तिष्क के लिए भी सकारात्मक ज्ञान रुपी भोजन जरूरी हैं। ~ कृष्ण मोहन सिंह(KMS)

 ~Kmsraj51

———– © Best of Luck ® ———–

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

cymt-kmsraj51

– कुछ उपयोगी पोस्ट सफल जीवन से संबंधित –

* विचारों की शक्ति-(The Power of Thoughts)

निश्चित सफलता के २१ सूत्र।

∗ जीवन परिवर्तक 51 सकारात्मक Quotes of KMSRAJ51

KMSRAJ51 के महान विचार हिंदी में।

* खुश रहने के तरीके हिन्दी में।

* अपनी खुद की किस्मत बनाओ।

* सकारात्‍मक सोच है जीवन का सक्‍सेस मंत्र 

* चांदी की छड़ी।

kmsraj51- C Y M T

“सफलता का सबसे बड़ा सूत्र”(KMSRAJ51)

“स्वयं से वार्तालाप(बातचीत) करके जीवन में आश्चर्यजनक परिवर्तन लाया जा सकता है। ऐसा करके आप अपने भीतर छिपी बुराईयाें(Weakness) काे पहचानते है, और स्वयं काे अच्छा बनने के लिए प्रोत्सािहत करते हैं।”

In English

Amazing changes the conversation yourself can be brought tolife by. By doing this you Recognize hidden within the buraiyaensolar radiation, and encourage good solar radiation to becomethemselves.

 ~KMSRAJ51 (“तू ना हो निराश कभी मन से” किताब से)

“अगर अपने कार्य से आप स्वयं संतुष्ट हैं, ताे फिर अन्य लोग क्या कहते हैं उसकी परवाह ना करें।”

~KMSRAJ51

 

Body Polishing At Home

Kmsraj51 की कलम से…..

Kmsraj51-CYMT-Oct-14-3

Body Polishing At Home

We come across many tempting spa packages which offer body polishing services, amongst others. Lets see what exactly is done in a body polishing session.

What is Body Polishing?

It is a process of exfoliating the body skin, and also moisturizing it, in order to get healthy, glowing skin. It can be compared to a facial. The steps would essentially remain the same. The most commonly used materials for preparing a body polish at home are sugar, salt, honey, oats, walnut shell powder, olive oil, etc.

Why Body Polishing?

Body polishing aims at removing dead skin from the surface, and allows new cells to grow. It helps in skin firming, moisturising, repairing sun-damage, improving oxygen supply to the skin, repairing damaged and dehydrated skin, etc.

How can I get my body polished?

You may get your body polished at your favorite spa, or you can prepare a homemade body polishing kit for yourself (details in a subsequent post).

How much does it cost?

In a spa, a body polishing session will cost you anything between 2000-5000 bucks, depending on where you get it done from.

Is it safe and effective?

Yes, it is safe and very effective, if done by trained therapists, and following the right procedure. Also, using the right products, according to your skin type, is very important.

How frequently can I get it done?

It is generally advisable to get a body-polish done once a month.

What is the body polishing process?

A typical in-salon body polishing session will comprise of the following steps:

You will be taken to a sauna cubicle, with a therapy table. You will be asked to lie down, and allow the steam to open up all pores on the skin, and prepare the skin for the steps to follow.

A scrub suitable for your skin type will then be applied on the body, and the body will be scrubbed gently. This will remove all dead skin cells, and any toxins that may have come to the surface from

Step -1 above.

The body will then be wiped with a hot, moist towel.

Next, the body will be massaged with aromatic essential oils, like lavender, patchouli, etc, depending on your skin type. This will moisturize the skin, and the aromatics will lead to relaxation.

After 10-15 minutes, you will be required to take a shower with warm water. Using soap or body shower gel is not advisable at this time, as we want to keep the oils on the skin. You may wipe the body with warm, damp towel, alternatively.

Tips for in-salon body polishing sessions:

  • Always go only to a reputed salon, your safety is as important as the hygiene concerns.
  • Before getting into the therapy room/ sauna room/ shower cubicle, ensure that the room has been properly cleaned and sanitized. You don’t want to get an infection from somebody who was in the room before you.
  • Always ask for fresh laundry. No compromises here.
  • For your satisfaction, you may check the products that will be used on your body before-hand. You have the right to do this!
  • Ensure that your spa therapist has clean uniform and hands. Ask her to sanitize her hands before starting the session.

Sounds so very luxurious, doesn’t it! And once in a while, it is heavenly to head to a spa, but considering the cost, making this a routine is impossible for everyone! So here we tell you how you can do it yourself at home!

Why natural body polishing at home?

Natural body polishing at home with home remedies can save you on travel time, money, and you won’t be under any pressure about reaching the spa on time! And you know what exactly is going into the body polish, and you can customize the products to best suit your body, with some experience.

Below are some methods for you to easily do body polishing procedure at home:

The basic steps, using a loofah/ pumice stone:

You will need:

  • A loofah or pumice stone
  • Olive oil
  • Home-made body scrub or ready made scrub which suits your skin

Method: Take a warm water shower first. Then apply warm olive oil onto your skin and massage for 5-10 minutes. Now exfoliate the skin using a body scrub. Do this for 5-10 minutes. Be very gentle on your skin. You may use a loofah and body wash alternatively. Next, gently scrub the hard patches on your skin, like elbows, knees and heels using a pumice stone to get rid of dead skin. Take a shower again, and apply dollops of your favorite moisturizer on your skin.

Some recipes for home-made body scrubs:

  • Salt, Sugar and Honey body polish: Mix half a cup each of salt (preferably organic) and sugar, with half cup of honey, in a bowl. Use this on your body after a warm shower to gently exfoliate and moisturize the skin.
  • Sugar, orange and olive oil polish: Mix together 2/3rdcup of brown sugar (or white sugar), ½ cup of dried and powdered orange peel, and ½ cup olive oil to prepare a scrub. Use this on the body after a warm shower, and then rinse off.
  • Strawberry and sugar body polish: Blend 4-5 strawberries and ½ cup of sugar with some honey in a blender, and use it on the body.

So, go ahead and make your own homemade body polishes..Happy blending!

Source: http://www.stylecraze.com/

For more health article visit at http://www.stylecraze.com/

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

अगर जीवन में सफल हाेना हैं. ताे जहाँ १० शब्दाें से काेई बात बन जाये वहा पर

१०० शब्द बाेलकर अपनी मानसिक और वाणी की ऊर्जा को नष्ट नहीं करना चाहिए॥

-Kmsraj51

जिनके संकल्प में दृढ़ता की शक्ति है, उनके लिए हर कार्य सम्भव है।

 ~KMSRAJ51

 

_______Copyright © 2014 kmsraj51.com All Rights Reserved.________

Vegetables for Glowing Skin

Kmsraj51 की कलम से…..

Kmsraj51-CYMT04

 चमकती त्वचा के लिए सब्जिया

nutritious_diet1

चमकती त्वचा के लिए सब्जिया

Glowing skin is not just a result of expensive products or external skincare routines. The food you eat also has a major effect on your skin. Loaded with antioxidant and vitamins, here are a few vegetables, which can help you get a glowing complexion.

Carrots
Carrots can effectively aid in skin health. They are high in beta carotene, which is converted to vitamin A by the body. This then helps fight wrinkles and fine lines, giving you a youthful glow.

Sweet potatoes

Sweet potatoes are a good source of vitamin A and C, which helps prevent and heal acne. It also has anti-inflammatory properties that aid in skin health.

Tomatoes
Tomatoes are rich in lycopene, an antioxidant that acts as a sunscreen and also helps fight ageing. You can either add tomatoes to your diet or you can use its pulp externally on your pores to tighten them.

Spinach
Spinach is packed with antioxidants that help slow down the early signs of ageingand also help tighten your skin tissue. Apart from that, they have anti-inflammatory properties that help flush out toxins, thereby giving your skin a healthy glow.

Beetroots
Beetroots are a good source of anthocyanins, an antioxidant that decreases inflammation of the skin and slows downageing. Adding beetroot to your regular diet will help improve your complexion and give it a healthy glow.

Read more Personal Health, Diet & Fitness stories on – http://healthmeup.com/

Source:- http://healthmeup.com/

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

Kmsraj51-CYMT08

 

जब तुम जानते हो कि तुम क्या कर सकते हो, तो तुम कुछ कर सकते हो|

जब तुम नहीं जानते कि तुम क्या कर सकते हो, तो तुम उससे भी बेहतर कर सकते हो|

~Sri Sri Ravi Shankar

 

_______Copyright © 2014 kmsraj51.com All Rights Reserved.________

अरुचि-(भूख न लगना)

kmsraj51 की कलम से…..

Soulword_kmsraj51 - Change Y M T

अरुचि – (भूख न लगना)

Food-Aruchii - kmsraj51

इस रोग में रोगी को भूख नहीं लगती | यदि जबरदस्ती भोजन किया भी जाय तो वह अरुचिकर लगता है |

रोगी 1 या 2 ग्रास ज्यादा नहीं खा पाता और उसे बिना कुछ खाये -पिये खट्टी डकारें आने लगती हैं |

इस तरह भूक न लगने अरुचि कहते हैं | आमाशय या पाचनतंत्र में कमी होने के कारण भूख लगनी कम हो जाती है |

ऐसे में यदि कुछ दिनों तक इस बात पर ध्यान न दिया जाये तो भूख लगनी बिलकुल ही बंद हो जाती है |

अधिक चिंता, क्रोध , भय और घबराहट के कारण भी यकृत की ख़राबी के कारण भी भूख नहीं लगती |

विभिन्न औषधियों द्वारा अरुचि का उपचार ——–

१-गेंहू के चोकर में सेंधा नमक और अजवायन मिलाकर रोटी बनाकर खाने से भूख तेज़ होती है |

२-एक सेब या सेब के रस के प्रतिदिन सेवन से खून साफ़ होता है और भूख भी लगती है |

३-एक गिलास पानी में 3 ग्राम जीरा , हींग , पुदीना , कालीमिर्च और नमक डालकर पीने से अरुचि दूर होती है |

४-अजवायन में स्वाद के अनुसार कालानमक मिलाकर गर्म पानी के साथ सेवन करने से अरुचि दूर होती है |

५-प्रतिदिन मेथी में छौंकी गई दाल या सब्ज़ी के सेवन से भूख बढ़ती है |

६-नींबू को काटकर इसमें सेंधा नमक डालकर भोजन से पहले चूसने से कब्ज़ दूर होकर पाचनक्रिया तेज़ हो जाती है | 

 

Post inspired by:

Poojya Acharya Bal Krishan Ji Maharaj-KMSRAJ51

पूज्य आचार्य बाल कृष्ण जी महाराज

मैं श्री आचार्य बाल कृष्ण जी महाराज का बहुत आभारी हूँ!!

आपको दिल से शुक्रिया;

Ayurveda Product Available on;-

http://patanjaliayurved.org/

 

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational Story, Poetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@yahoo.in. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

 

“अपने लक्ष्य को इतना महान बना दो, की  व्यथ॔ के लीये समय ही ना बचे” -Kmsraj51 

 

kmsraj51 की कलम से …..

Coming soon book (जल्द ही आ रहा किताब)…..

“तू ना हो निराश कभी मन से”

 

_________________ all rights reserve under kmsraj51-2013 _________________

 

करौंदा : गर्मी के दिनों में आयुर्वेद

kmsraj51 की कलम से

Soulword_kmsraj51 - Change Y M T

Coming Soon Public Book~

kmsraj51 की कलम से

॰तु ना हो निराश कभी मन से॰

 

करौंदा

Karuida-kmsraj51

करौंदा-


करौंदे के विषय में हम सब जानते हैं | इसके कच्चे फल खट्टे होते हैं तथा पके हुए फल कुछ मीठे होते हैं | इसकी हमेशा हरी-भरी रहने वाली झाड़ी होती है| इसके कंटक अत्यंत तीक्ष्ण तथा मजबूत होते हैं | आयुर्वेदीय संहिताओं में दो प्रकार के करौंदों का वर्णन प्राप्त होता है (१)करौंदा तथा (२)करौंदी | करौंदे के फल पकने के बाद काले पड़ जाते हैं इसलिए इनको कृष्णपाक फल कहते हैं | आइये जानते हैं करौंदे के कुछ औषधीय प्रयोगों के विषय में –

१- करौंदे के फल की चटनी बनाकर खाने से मसूड़ों के रोग मिटते हैं |

२- पांच मिलीलीटर करौंदा पत्र स्वरस में शहद मिलाकर चटाने से सूखी खांसी में लाभ होता है |

३- करौंदे के पके हुए फलों को खाने से अरुचि तथा पित्त विकारों में लाभ होता है |

४- जलोदर के रोगी को करौंदे के पत्तों का स्वरस पहले दिन ५ मिली,दुसरे दिन १० मिली,इस तरह प्रतिदिन ५-५ मिली बढ़ाते हुए ५० मिली तक सेवन कराएं तथा पुनः घटाते हुए ५ मिली तक प्रयोग करें| इस प्रकार नित्य प्रातःकाल पिलाने से जलोदर में लाभ होता है |

५- पांच ग्राम करौंदे के पत्तों को पीसकर दही के साथ मिलाकर खिलाने से मिर्गी में लाभ होता है |

६- करौंदे के बीजों को पीसकर पैरों पर लगाने से बिवाई (पैरों का फटना ) में लाभ होता है |

Karuida-kmsraj51


 

Post Inspired by:

Poojya Acharya Bal Krishan Ji Maharaj-KMSRAJ51Poojya Acharya Bal Krishan Ji Maharaj

आपको दिल से शुक्रिया,

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational Story, Poetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@yahoo.in. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

 also send mail:

kmsraj51@yahoo.in 

&

 cymtkmsraj51@hotmail.com



अब समय आ गया है परिवर्तन का॥

kmsraj51- C Y M T

जाे आपका आैर आपके समय के वैल्यू काे ना समझे।

उसके लिए कभी भी कार्य (Work) ना कराे॥







आलू के आयुर्वेदिक स्वास्थ्य लाभ – आलू की पोषण संबंधी लाभ

kmsraj51 की कलम से…..

Soulword_kmsraj51 - Change Y M Tआलू

भारत और विश्व में आलू विख्यात है और अधिक उपजाया जाता है| आलू को हमेशा छिलके समेत पकाना चाहिए क्योंकि आलू का सबसे अधिक पौष्टिक भाग छिलके के एकदम नीचे होता है, जो प्रोटीन और खनिज से भरपूर होता है। आलू में स्टॉर्च, पोटाश और विटामिन ए व डी होता है।

potato

यह अन्य सब्जियों के मुकाबले सस्ता मिलता है लेकिन है गुणों से भरपूर | आलू से मोटापा नहीं बढ़ता| आलू को तलकर तीखे मसाले, घी आदि लगाकर खाने से जो चिकनाई पेट में जाती है, वह चिकनाई मोटापा बढ़ाती है| आलू को उबालकर अथवा गर्म रेत या राख में भूनकर खाना लाभदायक और निरापद है|
आलू में विटामिन बहुत होता है| आलू को छिलके सहित गरम राख में भूनकर खाना सबसे अधिक गुणकारी है|

-भुना हुआ आलू पुरानी कब्ज और अंतड़ियों की सड़ांध दूर करता है| आलू में पोटेशियम साल्ट होता है जो अम्लपित्त को रोकता है|
-चार आलू सेंक लें और फिर उनका छिलका उतार कर नमक, मिर्च डालकर नित्य खाएं। इससे गठिया ठीक हो जाता है|
हरा भाग खतरनाक
आलू के हरे भाग में सोलेनाइन विषैला पदार्थ होता है, जो शरीर के लिए नुकसानदायक होता है। आलू के अंकुरित हिस्से का भी प्रयोग नहीं करना चाहिए।

आलुओं में प्रोटीन होता है, सूखे आलू में 8.5 प्रतिशत प्रोटीन होता है| आलू का प्रोटीन बूढ़ों के लिए बहुत ही शक्ति देने वाला और बुढ़ापे की कमजोरी दूर करने वाला होता है|
आलू में कैल्शियम, लोहा, विटामिन-बी तथा फास्फोरस बहुतायत में होता है| आलू खाते रहने से रक्त वाहिनियां बड़ी आयु तक लचकदार बनी रहती हैं तथा कठोर नहीं होने पातीं|
इसको छिलके सहित पानी में उबालें और गल जाने पर खाएं।
यदि दो-तीन आलू उबालकर छिलके सहित थोड़े से दही के साथ खा लिए जाएं तो ये एक संपूर्ण आहार का काम करते हैं|
आलू के छिलके ज्यादातर फेंक दिए जाते हैं, जबकि अच्छी तरफ साफ़ किये छिलके सहित आलू खाने से ज्यादा शक्ति मिलती है|
– कभी-कभी चोट लगने पर नील पड़ जाती है। नील पड़ी जगह पर कच्चा आलू पीसकर लगाएँ|
– शरीर पर कहीं जल गया हो, तेज धूप से त्वचा झुलस गई हो, त्वचा पर झुर्रियां हों या कोई त्वचा रोग हो तो कच्चे आलू का रस निकालकर लगाने से फायदा होता है।|
-गुर्दे की पथरी में केवल आलू खाते रहने पर बहुत लाभ होता है|पथरी के रोगी को केवल आलू खिलाकर और बार-बार अधिक पानी पिलाते रहने से गुर्दे की पथरियाँ और रेत आसानी से निकल जाती हैं|
-उच्च रक्तचाप के रोगी भी आलू खाएँ तो रक्तचाप को सामान्य बनाने में लाभ करता है|
-आलू को पीसकर त्वचा पर मलें। रंग गोरा हो जाएगा|

Post inspired by: Poojya Acharya Bal Krishan Ji Maharaj

मैं पूज्य आचार्य बाल कृष्ण जी महाराज का आभारी हूं.

Bal Krishna Ji-2 Bal Krishna Jihttp://patanjaliayurved.org/

Note::-

यदि आपके पास Hindi या English में कोई  article, inspirational story, Poetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है::- kmsraj51@yahoo.in . पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

love-rose-kmsraj51Picture Quotes By- “तू न हो निराश कभी मन से” किताब से

Book-Red-kmsraj51

100 शब्द  या  10 शब्द – एक सफल जीवन के लिए –

(100 Word “or” Ten Word For A Successful Life )

“तू न हो निराश कभी मन से” किताब => लेखक कृष्ण मोहन सिंह (kmsraj51)

“अपने लक्ष्य को इतना महान बना दो, की  व्यथ॔ के लीये समय ही ना बचे” -Kmsraj51

Soulword_kmsraj51 - Change Y M T

“सफल लोग अपने मस्तिष्क को इस तरह का बना लेते हैं कि उन्हें हर चीज सकारात्मक व खूबसूरत लगती है।”
-KMSRAJ51

“हमारी सफलता इस बात पर निर्भर करती है कि हम अपने जीवन का कुछ सेकंड, प्रतिघंटा और प्रतिदिन कैसे बिताते हैं”
-KMSRAJ51

-A Message To All-

मत करो हतोत्साहित अपने शब्दों से ……आने वाली नयी पीढ़ी को ,
वो भी करेंगे कुछ ऐसा एक दिन…. जिसे देखेगा ज़माना ….पकड़ती हुई नयी सीढ़ी को ॥

कुछ भी आप के लिए संभव है ॥

जीवन मंदिर सा पावन हाे, बाताें में सुंदर सावन हाे।

स्वाथ॔ ना भटके पास ज़रा भी, हर दिन मानो वृंदावन हाे॥

~kmsraj51

95+ देश के पाठकों द्वारा पढ़ा जाने वाला हिन्दी वेबसाइट है,, –

https://kmsraj51.wordpress.com/

मैं अपने सभी प्रिय पाठकों का आभारी हूं…..  I am grateful to all my dear readers …..

“तू न हो निराश कभी मन से” book

~Change your mind thoughts~

@2014-all rights reserve under kmsraj51.

——————– —– https://kmsraj51.wordpress.com/ —– ——————

 

मोगरा फूलों के आयुर्वेदिक लाभ।

Kmsraj51 की कलम से…..

CYMT-KMSRAJ51-4

ϒ मोगरा फूलों के आयुर्वेदिक लाभ। ϒ

 

मोगरा –

सूरज की धूप प्रखर होते ही सूखे से मोगरे के पौधे में नई कोंपले आने लगती है और आने लगती है मोती सी शुभ्र कलियाँ, फिर वे खिल कर अपनी सुन्दर खुशबु बिखर देते है। जैसे-जैसे गर्मी बढती है और हमें परेशान करने लगती है इसकी खुशबू हमें तरोताजा कर देती है। अपनी सुन्दरता के साथ-साथ मोगरा बहुत गुणकारी भी है।

  • इसका इत्र कान के दर्द में प्रयोग किया जाता है।
  • मोगरा कोढ़, मुंह और आँख के रोगों में लाभ देता है।
  • मोगरे का उपयोग एरोमा थेरेपी में किया जाता है। इसकी खुशबू शान्ति देती है और उत्साह से भरती है।
  • मोगरे की चाय बुखार, इन्फेक्शंस और मूत्र रोगों में लाभकारी होती है।
  • मोगरे वाली चाय रोज़ पीने से केंसर से बचाव होता है। इसमें मोगरे के फूलों और कलियों का उपयोग होता है।
  • मोगरे की ४ पत्तियों को पीसकर एक कप पानी में मिला दे। इसमें मिश्री मिला कर दिन में ४ बार पिने से दस्त में लाभ होता है।
  • मोगरे के पत्तों को पीसकर जहां भी दाद, खुजली और फोड़े – फुंसियां हो वहां लगाने से लाभ होता है।
  • बच्चों के लीवर बढ़ने में मोगरे की पत्तियों का ४-५ बूँद रस शहद के साथ देने से लाभ होता है।
  • कोई घाव ठीक ना हो रहा हो तो बेल वाले मोगरे के पत्तों को पीस कर लगाने से ठीक हो जाता है।
  • इसकी जड़ का काढा पीने से अनियमित मासिक ठीक होता है।
  • इसके दो पत्तों का काला नमक लगा कर सेवन करने से पेट की गैस दूर होती है।
  • इसके फूलों के उपयोग से से पेट के कीड़ों, पीलिया, त्वचा रोग, कंजक्टिवाईटिस, आदि में लाभ होता है।

Post Inspired by : Poojya Acharya Bal Krishan Ji Maharaj

http://patanjaliayurved.org/

Please Share your comment`s.

© आप सभी का प्रिय दोस्त ®

Krishna Mohan Singh(KMS)
Editor in Chief, Founder & CEO
of,,  https://kmsraj51.com/

जैसे शरीर के लिए भोजन जरूरी है वैसे ही मस्तिष्क के लिए भी सकारात्मक ज्ञान और ध्यान रुपी भोजन जरूरी हैं। ~ कृष्ण मोहन सिंह(KMS)

 ~Kmsraj51

———– © Best of Luck ® ———–

Note::-

यदि आपके पास हिंदी या अंग्रेजी में कोई Article, Inspirational StoryPoetry या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: kmsraj51@hotmail.com. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!!

Also mail me ID: cymtkmsraj51@hotmail.com (Fast reply)

cymt-kmsraj51

– कुछ उपयोगी पोस्ट सफल जीवन से संबंधित –

* विचारों की शक्ति-(The Power of Thoughts)

* अपनी आदतों को कैसे बदलें।

निश्चित सफलता के २१ सूत्र।

क्या करें – क्या ना करें।

∗ जीवन परिवर्तक 51 सकारात्मक Quotes of KMSRAJ51

* विचारों का स्तर श्रेष्ठ व पवित्र हो।

* अच्छी आदतें कैसे डालें।

KMSRAJ51 के महान विचार हिंदी में।

* खुश रहने के तरीके हिन्दी में।

* अपनी खुद की किस्मत बनाओ।

* सकारात्‍मक सोच है जीवन का सक्‍सेस मंत्र 

* चांदी की छड़ी।

kmsraj51- C Y M T

“सफलता का सबसे बड़ा सूत्र”(KMSRAJ51)

“स्वयं से वार्तालाप(बातचीत) करके जीवन में आश्चर्यजनक परिवर्तन लाया जा सकता है। ऐसा करके आप अपने भीतर छिपी बुराईयाें(Weakness) काे पहचानते है, और स्वयं काे अच्छा बनने के लिए प्रोत्सािहत करते हैं।”

In English

Amazing changes the conversation yourself can be brought tolife by. By doing this you Recognize hidden within the buraiyaensolar radiation, and encourage good solar radiation to becomethemselves.

 ~KMSRAJ51 (“तू ना हो निराश कभी मन से” किताब से)

“अगर अपने कार्य से आप स्वयं संतुष्ट हैं, ताे फिर अन्य लोग क्या कहते हैं उसकी परवाह ना करें।”

~KMSRAJ51